डेंगू व एड्स के खिलाफ जागरूक किए लोग

संवाद सहयोगी, कंदरौर : देवली ग्राम पंचायत में लोगों को डेंगू और एड्स के खिलाफ जागरूक करने के लिए शिविर का आयोजन किया गया । स्वास्थ्य शिक्षक खंड मार्कंडेय रमेश चंदेल ने लोगों को इन रोगों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डेंगू एडीज मच्छर के काटने से होता है। इसका सबसे पहला लक्षण तेज बुखार है। बरसात में ये बीमारी फैलती है। डेंगू होने पर शरीर के काम करने की गति धीमी पड़ जाती है, जिससे प्लेटलेट्स बनने की गति भी धीमी हो जाती है। ऐसे में शरीर की प्रतिरोधक क्षमता भी गिरने लगती है। डेंगू का मच्छर ज्यादातर दिन में काटता है और ये साफ पानी में फैलता है। मादा एडीज कूलर, ड्रम, टंकी और गमलों में इकट्ठे पानी में अंडे देती है, यहीं से डेंगू फैलता है। इस बीमारी का मुख्य लक्षण तेज बुखार होता है। इसके बाद सिर दर्द, जोड़ों और मांसपेशियों मे भी दर्द होता है। शरीर पर लाल चकत्ते भी दिखाई पड़ते हैं। इसके अलावा उल्टी, दस्त, पेट में दर्द, कमजोरी और भूख न लगना भी डेंगू के लक्षण हैं। इससे बचाव रखना भी बेहद जरूरी है। घर या ऑफिस के आसपास पानी जमा न होने दें, गड्ढों को मिट्टी से भर दें, रुकी हुई नालियों को साफ करें। अगर पानी जमा होने से रोकना मुमकिन नहीं है तो उसमें पेट्रोल या केरोसिन ऑयल डालें। घर में टूटे-फूटे डिब्बे, टायर, बर्तन, बोतलें आदि न रखें। अगर रखें तो उलटा करके रखें। बच्चों के लिए यह सावधानी बहुत जरूरी है। बच्चों को मलेरिया सीजन में निक्कर व टी-शर्ट न पहनाएं। इसके साथ उन्होंने लोगों के एड्स जैसे भयंकर रोग के बारे में भी जानकारी दी गई और इस बीमारी से बचाव के विभिन्न तरीके बताए गए। इस अवसर पर पंचायत प्रधान प्यारेलाल ठाकुर स्वास्थ्य पर्यवेक्षक प्रेमलाल और पंचायत देवली का समस्त स्टाफ उपस्थित रहा।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.