मतदान के बाद अब दिनभर वोट का हिसाब लगाते रहे कार्यकर्ता और प्रत्याशी

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : विधानसभा चुनाव में जीत के लिए दिन-रात तैयारी करने वाले प्रत्याशियों ने मंगलवार को राहत की सांस ली, लेकिन रिजल्ट के लेकर उनकी धड़कनें तेज हैं। वोटों के लिए कार्यकर्ताओं में भी गुणा-भाग चल रहा है। दिनभर सभी राजनैतिक दलों की दिनचर्या यहीं रही। बाजार में भी प्रत्याशियों को हार- जीत की चर्चा रही। वहीं कई प्रत्याशियों ने कई दिनों बाद परिवार के साथ कुछ समय बिताया। कई प्रत्याशियों का दफ्तर नहीं खुला।

परिवार के समय बिताया

जगाधरी सीट से प्रत्याशी कंवरपाल सुबह पांच बजे सैर पर निकल गए। वहां से लौटने के बाद कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इसी बीच समय निकालकर तैयार हुए। फिर से कार्यालय पर चले गए। यहां पर कार्यकर्ताओं ने उनको घटत और बढ़त की जानकारी दी। तब उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि विधानसभा में 60 के करीब बूथों पर 90 प्रतिशत से ज्यादा वोटिग हुई है। ये बेहतरी के संकेत हैं। करीब साढ़े 11 बजे कार्यालय से आकर बेटे निश्चल, पुत्रवधू सरवीन और पत्नी सुनीता के साथ समय बिताया। काफी दिनों के बाद दोपहर को चैन की नींद ली। दोपहर बाद फिर से कार्यकर्ताओं का तांता लग गया। पूरा दिन इसी तरह से दिनचर्या रही।

आज टेंशन कम हुई

सिटी विधायक घनश्यामदास अरोड़ा सुबह रुटीन में जगे, लेकिन कोई प्रेशर नहीं था। सुबह सैर करने गए। उसके बाद घर आए और तैयार होकर करीब साढ़े दस बजे चुनावी कार्यालय पर पहुंचे। यहां पर कार्यकर्ताओं के साथ चर्चा की। चर्चा करते हुए उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा कि हम अच्छी स्थिति में है। कई दिनों के बाद आज खुद को रिलेक्स महसूस कर रहा हूं। कार्यकर्ताओं से बात कर परिवारिक काम किए। दिन भर शुभचितकों के फोन भी आते रहे।

मेहंदी लगवाई

कांग्रेस प्रत्याशी निर्मल चौहान कहती हैं कि कई दिनों के बाद रूटीन ठीक हुआ है। सुबह सात बजे उठी। कॉलोनी में परिचितों से मुलाकात की। 10 बजे बेटे साहिल ने ऑफिस खोला। वे भी दो बजे ऑफिस आ गई थीं। समर्थकों के बीच बैठ कर चर्चा कर रही हैं। व्यस्तता के चलते दोपहर का भोजन नहीं किया। देर शाम को उन्होंने मेहंदी लगवाई। उसके बाद कार्यकर्ताओं से चुनाव के संबंध में बात की। बेटे साहिल और पति के साथ बैठकर कई दिनों के बाद फुर्सत पलों में बातचीत की।

साढौरा विधानसभा से भाजपा प्रत्याशी बलवंत सिंह सुबह पांच बजे उठे। सैर करने गए। बाद में पूजा-पाठ के बाद परिवार के साथ समय बिताया। उनका कहना है कि एक माह से प्रचार में व्यस्त थे। अब फुर्सत के पल मिले हैं। कार्यकर्ताओं को मतगणना की तैयारी पर चर्चा के लिए बुधवार को अपने भोगपुर कार्यालय पर बुलाया। रादौर से भाजपा प्रत्याशी और राज्यमंत्री कर्णदेव कांबोज सुबह उठे। उसके बाद योग किया। परिवार के साथ बातचीत की। मंधार गांव में घर पर ही कार्यकर्ता आ गए। उनसे मिले। उनके साथ मतगणना को लेकर चर्चा की। बूथ वाइज आकलन हुआ। दोपहर बाद क्षेत्र में निकल गए। कई कार्यकर्ताओं के घर पर गए। शाम को फिर चुनावी चर्चा हुई और परिवार के साथ बैठकर खाना खाया। उनका कहना है कि भाजपा का प्रचंड बहुमत आ रहा है। कार्यकर्ताओं की बैठक भी ली।

साढौरा से जजपा प्रत्याशी डॉ. कुसुम शेरवाल का कहना है कि वह सुबह पांच बजे उठी। घर का काम किया। कई दिन बाद घर का काम करने का मौका मिला। सात बजे वर्कर आ गए। हर एक बूथ का बैठकर आंकलन किया। दोपहर का भोजन पति अशोक शेरवाल के साथ किया। भोजन के दौरान भी हार जीत पर चर्चा की। उन्होंने जीत का दावा किया है। उन्होंने गुरुद्वारे में लंगर बनवाया।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.