गांव को नशा मुक्त बनाने के लिए महिलाएं आई आगे, एसपी को बोली मिली हुई तस्करों से पुलिस

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : खारवन गांव को नशा मुक्त बनाने के लिए महिलाएं आगे आई। लघु सचिवालय में पहुंच कर एसपी से बोली कि शराब तस्करों के साथ पुलिस मिली हुई है। बड़ी माजरी में पुलिस व प्रशासन की मिलीभगत से अवैध शराब बिक रही है। एसपी ने मामले में त्वरित कार्रवाई के लिए पुलिस को भेजा। पुलिस ने आरोपित रोमी को हिरासत में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी।

महिलाओं ने मंगलवार की रात को उन्होंने अवैध शराब पकड़ी और इस बारे में पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पुलिस मौके पर तो पहुंची। आरोपित को हिरासत में भी लिया। गांव के बाहर आते ही आरोपित को पुलिस ने बिना कार्रवाई के छोड़ दिया। बाद में आरोपित ने गांव में आकर उनको धमकाया। छह लोगों के नाम दिए था एसएसओ को :

ग्रामीण विजय, सतीश, रामकुमार, संदीप, लक्की, प्रवीण कुमार, र¨वद्र कुमार, लालचंद, वीना, रजनी, सोनिया, ममता, सुषमा, मीरा सहित अन्य ने बताया कि कई दिन पहले गांव में अवैध रूप से शराब बेचने की शिकायत सदर थाना प्रभारी से की। शिकायत के बाद भी पुलिस हरकत नहीं आई। इसी तरह से शराब बिकती रही। रात के समय आरोपित बाइक शराब लेकर आ रहा था। लोगों ने उसको शराब सहित पकड़ लिया। काफी मात्रा के उसके कब्जे से शराब मिली। रात के समय काफी हंगामा हुआ। पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो सभी लोग एसपी से मिलने लघुसचिवालय पहुंचे। 10 रुपए में पैग मिल जाता है गांव में :

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि गांव में दस रुपए में पैग मिल जाता है। छोटे बच्चे भी शराब के आदी हो गए। चंद पैसों के चक्कर में बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। विरोध करने पर महिलाओं के साथ मारपीट होती है। यह बात बताते हुए महिलाओं की आंसू पटपने लगे। फोटो : 36सी

दिन ढलते ही घर से निकलना मुश्किल :

महिला रीना का कहना है कि नशे के कारण गांव के हालत खराब है। दिन ढलते के बाद महिलाएं व लड़कियां घर से बाहर नहीं निकल सकती है। किसी काम के लिए घर से बाहर निकलना पड़े तो बदमजीमी होती है। आरोप है कि पुलिस की मिलीभगत से अवैध शराब का धंधा गांव में पनहा रहा है। फोटो : 36डी

मारपीट होती है महिलाओं के साथ :

महिला सिमरन का कहना है कि जब से गांव में अवैध शराब बिकना शुरू हुई। तब से गांव नशे की चपेट में है। विरोध करने पर महिलाओं के साथ मारपीट होती है। महिलाएं फैक्टरी में मजदूर करती हैं। जो पैसे वहां से आते हैं। घर आते ही पैसे छीन लिए जाते हैं। विरोध पर उनके साथ मारपीट होती है। फोटो 36ए

बेटे को निकाल दिया स्कूल से :

महिला ममता का कहना है कि गांव में खुली शराब बिक रही है। छोटे बच्चे शराब के आदी हो रहे हैं। उनका बेटा रामकुमार नौवीं के पढ़ता था। नशे का आदी होने पर स्कूल से बेटे को निकाल दिया। शराब ने उनके बेटे की ¨जदगी खराब कर दी। प्रशासन अवैध धंधा करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। फोटो : 36बी

विरोध किया तो धक्का देकर चोट मारी :

महिला ¨डपल का कहना है कि शराब बेचने का विरोध किया। इस पर गुस्साएं आरोपित ने उसको धक्का दे दिया। जिससे उनको चोट लगी। रात के समय गांव में पुलिस आई। शराब का धंधा करने वाले को पकड़कर ले गई। कुछ देर बाद फिर उसको छोड़ दिया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.