गुरु रविदास के प्रकाशोत्सव पर कपालमोचन में उमड़ा आस्था का सैलाब

गुरु रविदास के प्रकाशोत्सव पर कपालमोचन में उमड़ा आस्था का सैलाब

गुरु रविदास महाराज के 644वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में संत शिरोमणी गुरु रविदास जी के प्रकाशोत्सव पर विशाल समागम का आयोजन किया।

JagranMon, 08 Mar 2021 08:19 AM (IST)

संवाद सहयोगी, बिलासपुर : गुरु रविदास महाराज के 644वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में संत शिरोमणी गुरु रविदास मंदिर, डेरा बाबा लाल दास कपालमोचन में रविवार को जिलास्तरीय समागम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में हजारों की संख्या में श्रद्धालु जिलाभर से पहुंचे। इसके अलावा दूसरे जिलों से भी साधु, संतों ने समागम में शिरकत की। कार्यक्रम में पहुंची साढौरा विधायक रेनू बाल ने मंदिर परिसर में चल रहे निर्माण कार्यों के लिए 11 लाख रुपये देने की घोषणा की। ज्ञात हो कि कपालमोचन में हर वर्ष गुरु रविदास जयंती के एक सप्ताह बाद जिलास्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है।

कार्यक्रम में हजारों की संख्या में श्रद्धालु ट्रैक्टर-ट्रालियों पर विभिन्न गांवों से सुंदर झांकियां सजाकर मंदिर में शोभायात्रा के रूप में पहुंचे थे। शोभायात्रा का विभिन्न स्थानों पर भव्य स्वागत किया गया। श्रद्धालुओं के लिए 14 से अधिक जगहों पर भंडारों का आयोजन किया गया था। मुख्य अतिथि रामकिशन, विधायक रेनू बाला, पंकुश खुराना, श्याम सुंदर बत्रा, पूर्व सरपंच चंद्रमोहन सहित अन्य अतिथियों को सिरोपा व स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया। मुख्य अतिथि ने कहा कि हरियाणा प्रदेश साधु संतों की धरा है। जिनके वचनों से पूरे विश्व का कल्याण हुआ है। गुरु रविदास महाराज ने समाज को प्रकाश का मार्ग दिखाया। समाज में सबसे पहले समाजवाद और समानता की स्थापना की थी। कोई भी मजहब हमें आपस में लड़ना नहीं सिखाता है। रेनू बाला ने कहा कि गुरु जी ने छुआछूत के विरूद्ध आवाज उठाई थी और समाज में समानता और आपसी भाई चारे की अलख जताई। उनकी पहली शिक्षा थी कि भगवान पर सबका अधिकार है। डा. भीमराव आंडकर ने शिक्षित बनो, संगठित बनो और संघर्ष करो का नारा दिया था। जिस पर चलकर आज हम तरक्की कर सकते हैं। मंदिर के महंत निर्मल दास ने कहा कि गुरु रविदास के बताए मार्ग पर चल ही बुराइयों को समाप्त किया जा सकता है। वह समाज में फैली सामाजिक कुरीतियों को दूर करने के लिए गांव गांव जाकर लोगों को जागरूक करें। इस मौके पर मंदिर प्रबंधक सभा के अमरनाथ ज्ञासड़ा, डीएसपी सुभाष चंद, अमरनाथ ज्ञासड़ा, महेंद्र नागरा, इंद्रराज, लक्ष्मी चंद, रमेश कुमार, योगराज, बाबा जीतराम, अरूण कुमार, डा संजीव कुमार, सुरेंद्र कुमार, संदीप कुमार, शिव दयाल, संत पुरूषोतम दास, संत जौहरी दास, सुंदरानंद, सूरजभान, ज्ञानचंद समेत अन्य मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.