कमलेश तिवारी की हत्या के विरोध में सड़क पर उतरे हिदू संगठन

कमलेश तिवारी की हत्या के विरोध में सड़क पर उतरे हिदू संगठन

हिदू संघर्ष समिति के संयोजक महंत बालकृष्ण शास्त्री के नेतृत्व में विभिन्न हिदू संगठनों के सदस्यों और पदाधिकारियों ने मंगलवार को प्रदर्शन किया। उसके बाद सचिवालय में डीसी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। उन्होंने डीसी से मांग की है कि उत्तर प्रदेश में कमलेश तिवारी के हत्या करने वाले आरोपितों को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

Publish Date:Wed, 23 Oct 2019 06:20 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : हिदू संघर्ष समिति के संयोजक महंत बालकृष्ण शास्त्री के नेतृत्व में विभिन्न हिदू संगठनों के सदस्यों और पदाधिकारियों ने मंगलवार को प्रदर्शन किया। उसके बाद सचिवालय में डीसी को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन दिया। उन्होंने डीसी से मांग की है कि उत्तर प्रदेश में कमलेश तिवारी के हत्या करने वाले आरोपितों को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

महंत बालकृष्ण शास्त्री, पंडित उदयवीर शास्त्री, दिनेश चौहान, जोगिद्र भारती, किशोर, अश्वनी शर्मा, नंदू पंडित, प्रदीप यादव, दीपक आदि ने ज्ञापन में कहा कि हिदू संघर्ष समिति की ओर से वे यह मांग करते हैं कि देशभर में देश विरोधी लोगों के समूह द्वारा हिदू नेताओं पर लगातार हो रहें। हमलों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। पिछले दिनों लखनऊ में कमलेश तिवारी, जो सनातन संस्कृति के प्रहरी थे। राष्ट्र सेवा, समाज कल्याण में अपना समय व्यतीत कर रहे थे। वे सनातन संस्कृति परंपरा की रक्षा के लिए देश विरोधी ताकतों के खिलाफ आवाज उठाते रहते थे, जिस कारण उन्हें मारने की धमकी दी जा रही थी, लेकिन सरकार ने किसी भी जेहादियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। इसी का नतीजा है कि कमलेश तिवारी की निर्मम हत्या कर दी गई। उत्तर प्रदेश पुलिस ने कोई उचित कार्रवाई नहीं की और न ही कमलेश तिवारी को सुरक्षा प्रदान की। इसकी भी जांच की जाए कि किसके कहने पर कमलेश तिवारी की सुरक्षा में कटौती की गई। इस पूरे मामले की जांच केंद्रीय एजेंसी से कराने की मांग की। कमलेश तिवारी के परिवार को पांच करोड़ का मुआवजा, लड़के और पत्नी को सरकारी नौकरी एवं परिवार को कड़ी सुरक्षा मुहैया कराई जाए। मौके पर रोहित चौधरी, महिद्र मित्तल, हेमंत पंवार, संजय मित्तल, अधिवक्ता भूपिद्र शांडिल्य, गौरव, विजय जयसवाल, टिकू, दिव्यांश सैनी, भूपेंद्र रोड, मुकुल पंडित, पंडित अश्विनी, तरुण कांबोज, सचिन चौहान आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.