पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को किया विद्यार्थियों ने याद

संवाद सहयोगी, रादौर : क्षेत्र के विभिन्न शिक्षण संस्थाओं में मंगलवार को देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी का 102 वां जन्मदिवस मनाया गया। श्रद्धांजलि भेंट की गई। बच्चों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश कर देशभक्ति के गीत गाए। सभी को देशभक्ति का संदेश दिया।

अष्टविनायक कान्वेट खरकाली, लाइक पब्लिक, इंडियन पब्लिक सीनियर सेकेंडरी, डीएवी पब्लिक, भारत सीनियर सेकेंडरी कंड्रोली, महाराजा अग्रसेन सीनियर सेकेंडरी गुमथला, महाराजा अग्रसेन सीनियर सेकेंडरी जठलाना, जनता आदर्श सत्यादेव सीनियर सेकेंडरी अलाहर, गीता सीनियर सेकेंडरी चमरोड़ी, गीता मिडल एमटी करहेडा, राजकीय मिडल स्कूल सागडी, राजकीय मिडल स्कूल फतेहगढ, शांति देवी कॉलेज ऑफ एजुकेशन, शहीद भगत सिंह कालेज ऑफ एजुकेशन फॉर वुमेन मोनिका मॉडल स्कूल रादौर में कार्यक्रम आयोजित किए गए।

रादौर के विधायक डॉ. बीएल सैनी के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने शहर में मंगलवार को पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी का जन्मदिवस मनाया। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धासुमन भेंट की। बीएल सैनी ने कहा कि देश के लोकतंत्र को अपने प्राणों का बलिदान देकर जिदा रखने वाली देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी की जयंती आज पूरा देश मना रहा है।

आइटी सेल की ओर से मनाया गया पूर्व प्रधानमंत्री का जन्मदिवस

कांग्रेस आइटी सेल की ओर से मंगलवार को शहर में पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी का जन्मदिवस मनाया। आइटी सेल हलका प्रधान सोनू रपडी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर पुष्प अर्पित किए।

पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी को दी श्रद्धांजलि

रादौर : दुसानी में मंगलवार को पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी की जयंती मनाई गई। कांग्रेस सेवा दल के जिलाध्यक्ष अश्वनी व हरीश मौदगिल के नेतृत्व में ग्रामीणों ने चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि भेंट की। उन्होंने ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश को विकसित राष्ट्र बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उनके द्वारा दिए गए योगदान को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा। देश पर जब जब संकट आया तो पूर्व प्रधानमंत्री ने मजबूत निर्णय लेकर देश की आन बान शान को कायम रखा। हमें उन पर हमेशा गर्व रहेगा। हमें उनके बताए मार्ग पर चलकर राष्ट्रहित में कार्य करना चाहिए। उन्होंने देश की एकता और अखंडता के लिए अपना बलिदान दिया था।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.