जिगजैग तकनीक से ही कम करेंगे प्रदूषण

शहर के रोहतक मार्ग स्थित मिलन पैलेस में रविवार को एनसीआर भट्ठा मालिकों की एक बैठक आयोजित की गई। इसमें हरियाणा प्रदेश के 14 राजस्थान के दो व उत्तर प्रदेश के आठ जिलों के प्रधानों ने हिस्सा लिया।

Harish BhoriyaSun, 13 Jun 2021 08:28 PM (IST)
शहर के रोहतक मार्ग स्थित मिलन पैलेस में रविवार को एनसीआर भट्ठा मालिकों की एक बैठक आयोजित की गई।

संवाद सहयोगी, खरखौदा: शहर के रोहतक मार्ग स्थित मिलन पैलेस में रविवार को एनसीआर भट्ठा मालिकों की एक बैठक आयोजित की गई। इसमें हरियाणा प्रदेश के 14, राजस्थान के दो व उत्तर प्रदेश के आठ जिलों के प्रधानों ने हिस्सा लिया। बैठक में भट्ठा मालिकों को सीएनजी-पीएनजी माडल भट्ठा स्थापित करने को लेकर दिए गए आदेशों पर अमल करने या ना करने पर विचार-विमर्श किया गया। ईंट भट्ठा मालिकों ने बैठक में स्पष्ट किया कि बीते कुछ वर्षों में एनसीआर क्षेत्र के भट्ठा संचालकों ने जिग-जैग तकनीक पर लाखों रुपये खर्च किए हैं, ताकि प्रदूषण कम किया जा सके। ऐसे में अब सीएनजी-पीएनजी माडल भट्ठा बनाने पर वे करोड़ों रुपये खर्च नहीं करेंगे। क्योंकि मुद्दा सिर्फ प्रदूषण खत्म करना है ना कि किसी नई तकनीक को अपनाना। बैठक में एनसीआर भट्ठा एसोसिएशन प्रधान सुरेंद्र चौहान ने कहा कि एनजीटी के आदेश पर 30 जून तक ही एनसीआर में भट्ठे चलाए जा सकते हैं, सभी भट्ठा मालिक इस आदेश का पालन करेंगे, लेकिन अब नई तकनीक जोकि सीएनजी-पीएनजी से भट्ठे चलाने की है उसे लागू करने की बात हो रही है और उस पर करोड़ों रुपये खर्च होंगे। यह राशि खर्च करने में कोई भट्ठा संचालक सक्षम नहीं हैं। क्योंकि करीब 70 लाख रुपये खर्च कर कुछ समय पहले ही जिग-जैग तकनीक को अपनाते हुए भट्ठे तैयार किए गए हैं। बैठक में भट्ठा मालिकों ने निर्णय लिया कि वे सरकार व एनजीटी को अपनी जिग-जैग प्रणाली पर आधारित भट्ठों से ही पर्यावरण में प्रदूषण के स्तर को कम करके दिखाने को तैयार हैं। ऐसे में उन पर नई तकनीक के भट्ठे स्थापित करने का दबाव न बनाया जाए। बैठक में सोनीपत एसोसिएशन प्रधान धर्मेंद्र दहिया, सतपाल देशवाल, विनोद गुलिया झज्जर, विक्रम राणा, संरक्षक वीरेंद्र तेवतिया, संजीव पलवल, नरेंद्र नेहरा, विक्रम राणा, गुलशन राय, जितेंद्र नांदल, अनूप दहिया, जयकरण राणा, मुकेश अग्रवाल, बृजेश अग्रवाल, नरेंद्र दलाल, संजीव, सुभाष गर्ग मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.