घोषणाओं के अनुरूप संसाधन उपलब्ध नहीं करवाए गए : खोथ

लघु सचिवालय के सामने स्वास्थ्य सेवाएं बढ़ाने की मांग को लेकर कर्मचाि

JagranSat, 19 Jun 2021 05:54 AM (IST)
घोषणाओं के अनुरूप संसाधन उपलब्ध नहीं करवाए गए : खोथ

जागरण संवाददाता, सिरसा : लघु सचिवालय के सामने स्वास्थ्य सेवाएं बढ़ाने की मांग को लेकर कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। सर्व कर्मचारी संघ व जनस्वास्थ्य विभाग हरियाणा के पदाधिकारियों की ओर से सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार व मजबूती को लेकर मुख्यमंत्री के नाम नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा गया। संघ के जिला प्रधान मदन लाल खोथ व जनवादी महिला समिति से प्रधान बलवीर कौर गांधी ने कहा कि घोषणाओं के अनुरूप संसाधन उपलब्ध नहीं करवाए गए हैं, जिसके कारण सभी वर्गों को काफी समस्याएं झेलनी पड़ रही हैं। खासकर कोरोना काल के दौरान आधे अधूरे प्रबंधों के साथ कर्मचारियों ने काम किया। कर्मचारियों को सभी संसाधन उपलब्ध करवाए जाए, ताकि वो बेहतर तरीके से अपनी सेवाएं दे सकें।

---

मुफ्त टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए

उन्होंने कहा कि कोविड टीकाकरण की गति को तेज करते हुए सभी नागरिकों का मुफ्त टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। सभी संक्रमितों की जांच और उपचार पर होने वाले खर्च को सरकार वहन करें। सभी गैर कोविड स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर व मुफ्त दी जाए। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र में सरकारी निवेश को बढ़ाया जाए और विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों अनुसार स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत बनाया जाए। स्वास्थ्य विभाग से ठेका प्रथा खत्म कर सभी एनएचएम के अनुबंध कर्मचारियों, आउटसोर्सिंग पालिसी में लगे ठेका कर्मचारियों एवं आशा वर्करों को नियमित कर्मचारी का दर्जा दिया जाए। स्वास्थ्य विभाग के साथ ही जन स्वास्थ्य विभाग एवं शहरी व ग्रामणी क्षेत्र में सफाई के कार्य से भी ठेका प्रथा खत्म कर सभी टर्म अप्वाएंटी व पंचायती कर्मचारियों, अनुबंध व ठेका सफाई कर्मचारियों को पक्का किया जाए।

---

जनता को मिले स्वच्छ पानी

उन्होंने कहा कि जनता को स्वच्छ पीने का पानी व साफ सफाई की सुविधा देने के पुख्ता प्रबंध किए जाए। कोरोना के प्रबंधन में शामिल तमाम स्वास्थ्य कर्मियों व कार्यकर्ताओं को सरकार की ओर से समुचित सहायता एवं बचाव के उपकरण जैसे पीपीई किट, मास्क, सैनिटाइजर व दस्ताने उपलब्ध करवाए जाए। बढ़ती जनसंख्या के हिसाब से मेडिकल पैरामेडिकल व स्पोर्टिंग स्टाफ के नए पद स्वीकृत कर नियमित भर्ती कर बेरोजगारों को रोजगार दिया जाए। जिला अस्पतालों और अन्य स्वास्थ्य सेवाओं के निजीकरण पर रोक लगाई जाए। स्वास्थ्य बीमा योजनाओं की समीक्षा की जाए। सार्वजनिक क्षेत्र की दवा कंपनियों को पुनर्जीवित किया जाए। की। इस अवसर पर जिला सचिव राजेश भाकर महेन्द्र शर्मा, रमेश सैनी, संजय शर्मा, सुखदेव सिंह, श्रीधर, शिव कुमार शर्मा व ओमप्रकाश मौजूद रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.