सोमवार को आए 89 पॉजिटिव केस

सोमवार को आए 89 पॉजिटिव केस
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 10:42 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, सिरसा : सोमवार को जिले में कोरोना के 89 केस मिले। जिले में संक्रमितों की तादाद 3160 तक पहुंच गई है। इनमें से 917 अभी भी एक्टिव है। जिनमें से 688 होम आइसोलेशन में जबकि शेष कोविड केयर सेंटरों में उपचाराधीन है। जिले में अब तक 64294 लोगों के सैंपल लिए जा चुके हैं। जिले में अब तक 2195 लोग ठीक हो चुके हैं तथा रिकवरी रेट 70 फीसद के करीब पहुंच गया है।

-----------

सोमवार को संक्रमित मिले 89 लोगों में डबवाली में सात, ढाणी टिब्बावाली, चौटाला, बॉटा कॉलोनी व हिसार रोड पर तीन तीन केस मिले। सेक्टर 19 में दो तथा सी ब्लाक में चार केस सामने आए हैं। इसके अलावा रानियां, बिज्जूवाली, बनवाला, शेखुपुरिया, कीर्तिनगर, डेरा, एफ ब्लाक, अरनियांवाली, न्यू हाउसिग बोर्ड, रानियां गेट पर संक्रमण के केस आए हैं। इसके अलावा बप्प, प्रीतनगर, कीर्तिनगर, चाहरवाला, पुलिस लाइन, ओढ़ां, मंडी कालांवाली, ऐलनाबाद, मल्लेकां, मेहनाखेड़ा, गोशाला मोहल्ला, जीटीएम, खन्ना कॉलोनी, माधोसिघाना, शास्त्रीनगर, नानूआना, अग्रसेन कॉलोनी, उमेदपुरा, शिवनगर, आर्यसमाज रोड पर संक्रमित मिले है।

--------------

अध्यापक भी मिले संक्रमित

स्कूलों में अध्यापकों की करवाई जा रही कोविड जांच में अध्यापक संक्रमित मिल रहे हैं। हिसार रोड पर खैरपुर स्थित सरकारी स्कूल में छह संक्रमित मिले हैं। मॉडल संस्कृति स्कूल में तीन पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा रेलवे स्टेशन के निकट स्थित निजी स्कूल में भी कई अध्यापक पॉजिटिव मिले हैं। स्कूल में आने वाले अध्यापकों में संक्रमण का भय देखा जा रहा है।

-------------

गिगोरानी में संक्रमितों के गायब होने की दी शिकायत, चौपटा में मिले

गांव गिगोरानी में बीते दिवस आठ संक्रमित पाए गए थे। पॉजिटिव मिलने के बाद मजदूर गायब हो गए। इसके बाद ग्राम पंचायत ने स्वास्थ्य विभाग व चौपटा थाना प्रभारी को सूचना दी। सीएचसी नाथूसरी चौपटा के मुकेश कुमार ने इस संबंध में चिकित्सा अधिकारी को शिकायत दी। उन्होंने बताया कि मजदूर कहीं चले गए हें और वे फोन भी नहीं उठा रहे हैं। इसके बाद पुलिस ने मामले की जांच की तो पता चला कि सभी संक्रमित मजदूर नाथूसरी चौपटा में रह रहे हैं। चौपटा थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अवतार सिंह ने बताया कि मजदूर पाइप लाइन पर काम करते थे। उनका पता चल जाने के बाद उस एरिया को कंटेनमेंट जोन में बदल दिया गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.