धोखाधड़ी कर खाते से निकाले 68 हजार रुपये

धोखाधड़ी कर खाते से निकाले 68 हजार रुपये

जसिया गांव के रहने वाले व्यक्ति के खाते से धोखाधड़ी कर रुपये निकाल लिए गए। जसिया गांव निवासी प्रदीप ने बताया कि वह एक कंपनी में काम करता है।

Publish Date:Thu, 28 Jan 2021 08:20 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, रोहतक : जसिया गांव के रहने वाले व्यक्ति के खाते से धोखाधड़ी कर रुपये निकाल लिए गए। जसिया गांव निवासी प्रदीप ने बताया कि वह एक कंपनी में काम करता है। 14 जनवरी को मोबाइल पर एक अज्ञात नंबर से कॉल आई। फोन करने वाले ने कहा कि वह उसका दोस्त बोल रहा है और खाते में कुछ रुपये डलवाने हैं। इसके लिए ऑफिस मैनेजर का नंबर दे दिया। फोन करने वाले ने उस नंबर पर तीन-चार क्यूआर कोड भेजे, जिसे स्कैन करते ही खाते से अलग-अलग ट्रांजक्शन कर करीब 68 हजार रुपये निकाल लिए गए। ठगी का पता चलने के बाद आरोपित के नंबर पर कॉल की और रुपये वापस मांगे। इस पर आरोपित ने जान से मारने की धमकी देकर फोन काट दिया। शिकायत के आधार पर सदर थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

जमानत के बाद आकर फिर छीना मोबाइल, साथी समेत गिरफ्तार

जागरण संवाददाता, रोहतक : एवीटी (एंटी व्हीकल थैफ्ट) की टीम ने स्नेचिग की वारदात में फरार चल रहे दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपितों से पूछताछ के बाद बाइक चोरी की घटना भी खुली है। प्रभारी गोर्धन सिंह ने बताया कि 18 नवंबर को हुमायुपुर गांव निवासी मोहित शीला बाईपास पर ऑटो के इंतजार में खड़ा था। तभी नए बस स्टैंड की तरफ से आए बाइक सवार दो आरोपितों ने उसके हाथ से मोबाइल छीन लिया था। मंगलवार को मुख्य सिपाही अनिल कुमार और सिपाही जिले सिंह की टीम ने छापेमारी करते हुए सुंदरपुर गांव निवासी गुलशन और आजादगढ़ निवासी सुखदेव को गिरफ्तार किया है। जांच में सामने आया कि आरोपित गुलशन का पुराना आपराधिक रिकार्ड रहा है। जो मोबाइल चोरी के मामले में पहले भी गिरफ्तार हो चुका है, जो जमानत पर बाहर आया हुआ था। वारदात में प्रयुक्त बाइक भी हुडा सिटी पार्क से चोरी की गई थी। जिसे 20 जुलाई को चुराया गया था। आरोपितों को कोर्ट में पेश कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.