व्यापारी भूटानी ने कहा कि विधायक बतरा सस्ते प्लाट नहीं दिलाएंगे तो करेंगे उनके आवास के बाहर भूख हड़ताल

काठमंडी ट्रांसपोर्ट नगर और आटो मार्केट की शिफ्टिग को लेकर राजनीति शुरू हो गई है।

JagranSun, 25 Jul 2021 06:10 AM (IST)
व्यापारी भूटानी ने कहा कि विधायक बतरा सस्ते प्लाट नहीं दिलाएंगे तो करेंगे उनके आवास के बाहर भूख हड़ताल

जागरण संवाददाता, रोहतक: काठमंडी, ट्रांसपोर्ट नगर और आटो मार्केट की शिफ्टिग को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। एक तरफ कुछ व्यापारिक यूनियनों ने शिफ्टिग के मामले में आरोप लगाए हैं कि हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण यानी एचएसवीपी ने रेट रिवाइज कर दिए हैं। इससे कुछ समय बाद होने वाली आक्शन में व्यापारियों और दुकानदारों को महंगे दामों में दुकानें मिलेंगी। इसलिए ई-आक्शन के बहिष्कार का फैसला लिया है। दूसरी ओर, मार्बल टाइल्स एवं ट्रेडर्स एसोसिएशन ने शहर विधायक बीबी बतरा से मांग की है कि विधानसभा चुनाव में जो वादा किया था उसे पूरा करें। उन्होंने सस्ती दरों पर दुकानें दिलाने का वादा किया था।

मार्बल एवं टाइल्स एवं ट्रेडर्स एसोसिएशन झज्जर रोड के प्रधान राजू भूटानी ने आरोप लगाए हैं कि चुनाव के समय कांग्रेस के प्रत्याशी भारत भूषण बतरा ने कहा था कि अगर वह विधायक बने तो सस्ते रेट पर काठमंडी व ट्रांसपोर्ट नगर में लोगों को जमीन उपलब्ध करवाएंगे। आज वह रोहतक के विधायक हैं और उन्हें अपना वायदा पूरा करना चाहिए। इसके लिए अगर दुकानदार भाई कहेंगे तो विधायक बतरा के घर के बाहर प्रदर्शन और भूख हड़ताल करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। सभी यूनियनों से अपील की है कि है कि सभी एक मंच पर आएं और विधायक बतरा के घर के बाहर धरना दें। इस पूरे मसले में हम सभी व्यापारी भाइयों के साथ हैं। यह भी आरोप हैं कि रोहतक से काठमंडी और ट्रांसपोर्ट नगर शिफ्ट करने का प्रपोजल कांग्रेस के समय तैयार हुआ था, लेकिन कांग्रेस की नीयत में खोट था, इसलिए यह प्रोजेक्ट सिरे नहीं चढ़ पाया। जब सनसिटी और ओमैक्स को सैकड़ों एकड़ जमीन काटकर तुरंत आवंटित की जा सकती थी तो तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने रोहतक के काठमंडी और ट्रांसपोर्ट नगर के कारोबार से जुड़े व्यापारियों के साथ इतना बड़ा खेल क्यों खेला। उन्हें हाथों हाथ जगह उपलब्ध कराई जा सकती थी, मगर ऐसा नहीं किया गया। अब इतने वर्षों के बाद आज जमीनों के भाव भी आसमान पर हैं और समय के हिसाब से सरकार की पालिसी भी चेंज हो गई है। अब ई-आक्शन पालिसी के तहत आवेदन करना होगा। तत्कालीन कांग्रेस सरकार की लापरवाही का खामियाजा व्यापारियों को भुगतना पड़ेगा। इस मुद्दे पर सभी व्यापारी भाइयों के साथ हैं। पहले करेंगे एचएसवीपी के अधिकारियों के साथ बैठक फिर लेंगे बड़ा फैसला

काठमंडी एसोसिएशन के प्रधान उम्मेद सिंह ने बताया कि इनेलो सरकार के समय से ही काठ मंडी, आटो मार्केट और ट्रांसपोर्ट नगर को शिफ्ट करने का फैसला लिया गया था। मगर अभी तक योजना सिरे नहीं चढ़ सकी है। कांग्रेस के साथ ही भाजपा सरकार में भी योजना को लेकर दुकानदारों को राहत नहीं दी गई। पिछले चार साल में तीन-चार बार आक्शन के लिए दुकानें रखीं गईं। लेकिन दुकानें कई गुना महंगी होने के कारण हर बार एचएसवीपी को विरोध का सामना करना करना पड़ा। यह भी कहा कि इस प्रकरण में सोमवार या फिर मंगलवार को एचएसवीपी के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। यदि कोई समाधान नहीं निकला तो आक्शन का विरोध करेंगे। यह भी बताया कि हम महज 10 हजार रुपये गज से अधिक रकम आक्शन में नहीं दे सकते। जबकि एचएसवीपी ने पहले 34 हजार रुपये गज और अब बढ़ाकर 36 हजार रुपये गज के रेट रखे हैं। इसलिए सेक्टर-21 और सेक्टर-21 पार्ट के लिए होने वाली आक्शन से पहले कोई फैसला नहीं लिया तो मजबूर होकर बहिष्कार का फैसला लेंगे। दुकानदार और व्यापारी किसी भी प्रकार की आक्शन में शामिल नहीं होंगे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.