70 प्रतिशत मत पाकर चौथी बार प्रधान बने संजय बिड़लान, हारने के बाद अनिल ने किए हस्ताक्षर

जागरण संवाददाता रोहतक हरियाणा नगर पालिका कर्मचारी संघ नगर निगम इकाई के प्रधान पद क

JagranThu, 02 Dec 2021 11:55 PM (IST)
70 प्रतिशत मत पाकर चौथी बार प्रधान बने संजय बिड़लान, हारने के बाद अनिल ने किए हस्ताक्षर

जागरण संवाददाता, रोहतक

हरियाणा नगर पालिका कर्मचारी संघ नगर निगम इकाई के प्रधान पद का वीरवार की शाम को फैसला हो गया। करीब 70 प्रतिशत मत पाकर संजय बिड़लान चौथी बार प्रधान बने। हारने के बाद प्रत्याशी अनिल पारचा ने धांधली के आरोप लगाए हैं। दावा किया है कि मतदान के दौरान चुनाव अधिकारियों ने संजय के पक्ष में मतदान करने के लिए मतदाताओं को कहा। चुनाव में मिलीभगत के आरोप लगाते हुए परिणाम आने के बाद हंगामा किया। इसके साथ ही परिणाम वाले पत्र पर हस्ताक्षर नहीं किए। यह भी कहा है कि जल्द जिला उपायुक्त कैप्टन मनोज कुमार से मिलेंगे। न्याय नहीं मिला तो कोर्ट जाएंगे और चुनाव परिणाम पर स्टे की मांग करेंगे।

आंबेडकर चौक स्थित नगर निगम कार्यालय परिसर में सुबह आठ बजे से मतदान शुरू हुआ। इस बार 1089 मतदाता थे। संजय बिड़लान गुट ने दावा किया है कि उन्हें कुल 323 मतों से जीत मिली है। जीत की घोषणा से पहले ही प्रतिद्वंदी अनिल पारचा और समर्थकों ने विरोध जताया। यह भी दावा किया है कि चुनाव अधिकारी बिके हुए थे। उन्होंने चुनाव की निष्पक्षता और गोपनीयता भंग की है। खुद की आपत्ति से भी अवगत करा दिया। दूसरी ओर, जीत का दावा करते हुए बिड़लान गुट ने जश्न मनाना शुरू कर दिया। नगर निगम कार्यालय से लेकर शहर में जबरदस्त जुलूस निकाला गया। इस दौरान समर्थकों ने फूल मालाओं से संजय और उनके करीबी एवं संगठन के महासचिव श्रवण बोहत को लाद दिया।

संजय 2013 से लगातार प्रधान बन रहे

निगम के इतिहास में नया रिकार्ड बन गया है। हरियाणा नगर पालिका कर्मचारी संघ नगर निगम इकाई का सबसे पहला चुनाव संजय साल 2013 में जीते। इससे पहले साल 2011 से 2012 तक अनिल पारचा प्रधान रहे। उसी दौरान से संजय लगातार तीन-तीन साल के लिए प्रधान रहे। संजय का यह कार्यकाल भी तीन साल का रहेगा।

पुलिस बलों के साथ ही ड्यूटी मजिस्ट्रेट रहे तैनात

जिलाधीश कैप्टन मनोज कुमार ने स्थानीय नगर निगम कार्यालय में नगर निगम कर्मचारी संघ के चुनाव की प्रक्रिया के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी अजीत सिंह को ड्यूटी मजिस्ट्रेट किया था। चुनाव शांतिपूर्ण एवं निष्पक्षता से कराने के लिए निगम कार्यालय छावनी में तब्दील रहा। चुनाव परिणाम के बाद भी यहां तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात रहा। बता रहे हैं कि मतदान के दौरान तक मामला शांतिपूर्ण रहा। परिणाम आने तक तनाव रहा।

--------------

सभी को धन्यवाद। मुझ पर फिर से भरोसा जताया। मैं सभी कर्मचारियों की आवाज उठाता रहूंगा। मेरी आवाज कोई नहीं दबा पाएगा।

संजय बिड़लान, प्रधान, हरियाणा नगर पालिका कर्मचारी संघ नगर निगम इकाई

--

चुनाव के दौरान खूब धांधली हुई है। जब भी मत डालने के लिए मतदाता पहुंचे तब अंदर संगठन के प्रदेश उप महासचिव शिवचरण संजय के पक्ष में मत डालने के लिए इशारा करते। मैंने चुनाव परिणाम पर कोई हस्ताक्षर नहीं किए हैं। उपायुक्त से सभी कर्मचारी मिलेंगे। न्याय नहीं मिलेगा तो कोर्ट जाऊंगा, कोर्ट से चुनाव परिणाम पर स्टे लाएंगे।

अनिल पारचा, प्रत्याशी, हरियाणा नगर पालिका कर्मचारी संघ नगर निगम इकाई

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.