दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

डीआइजी सुखबीर की याद में ईश्वर दहिया ने तैयार कराया कुश्ती अखाड़ा, कोविड केयर सेंटर के लिए सोनीपत प्रशासन को सौपेंगे

डीआइजी सुखबीर की याद में ईश्वर दहिया ने तैयार कराया कुश्ती अखाड़ा, कोविड केयर सेंटर के लिए सोनीपत प्रशासन को सौपेंगे

पहल - अंतरराष्ट्रीय कोच व रिटायर जिला खेल अधिकारी ने सोनीपत के उपायुक्त को लिखा पत्र -

JagranThu, 06 May 2021 07:02 AM (IST)

पहल :

- अंतरराष्ट्रीय कोच व रिटायर जिला खेल अधिकारी ने सोनीपत के उपायुक्त को लिखा पत्र

- सोनीपत में सिलाना-चोलका रोड पर निर्मित हो चुका है अखाड़ा, उद्घाटन होना था यहां

जागरण संवाददाता, रोहतक: अंतरराष्ट्रीय कुश्ती कोच एवं रिटायर जिला खेल अधिकारी ईश्वर दहिया मदद के लिए आगे आए हैं। सोनीपत में सिलाना-चोलका गांव स्थित नवनिर्मित कुश्ती अखाड़े को प्रशासन को सौंपने का फैसला लिया है। ईश्वर ने सोनीपत के उपायुक्त को पत्र लिखकर सुझाव दिया है कि यदि प्रशासन यहां कोविड केयर सेंटर या फिर अन्य किसी कार्य के लिए उपयोग करे। उन्होंने बताया कि यहां 50 बेड बिछाए जा सकते हैं।

कोच ईश्वर ने बताया कि सोनीपत में एशियन मेडलिस्ट सुखबीर सिंह रेसलिग एकेडमी की नींव बीते साल अक्टूबर में रखी गई थी। हाल ही में यह कुश्ती अखाड़ा बनकर तैयार हुआ है। सिर्फ उद्घाटन होना शेष है। इन्होंने बताया कि यहां करीब 600 गज जमीन है। प्रशासन कोविड काल में किसी भी कार्य के लिए इस अखाड़े का उपयोग कर सकता है। इसलिए हमने यही सुझाव दिया कि कोरोना को मिलकर हराना है। अधिवक्ता दीपक दहिया ने बताया कि हमारा कॉमर्शियल प्रतिष्ठान गुरुग्राम में भी है। बीते साल हमने प्रशासन को वह प्रतिष्ठान दिया था। यदि जरूरत पड़ी तो हम गुरुग्राम प्रशासन से भी बात करके संबंधित प्रतिष्ठान को कोविड केयर सेंटर या फिर अन्य किसी उपयोग के लिए सौपेंगे।

सुखबीर सिंह की स्मृति में तैयार कराया था अखाड़ा

ईश्वर दहिया ने बताया कि सुखबीर सिंह हरियाणा पुलिस में डीआइजी थे। पिछले साल इनका निधन हो गया। गुरुग्राम में रहते थे और हिसार स्थित किरमारा गांव के रहने वाले थे। ईश्वर ने बताया कि सुखबीर स्पो‌र्ट्स कोटे से हरियाणा राज्य में पुलिस में इंस्पेक्टर बनने वाले पहले पहलवान खिलाड़ी थे। कई अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में मेडल जीते। एशियन चैंपियनशिप में भी इन्होंने मेडल जीता था। ईश्वर दहिया के सुखबीर बेहद करीबी थे और साथी थे। इनके सम्मान में यह अखाड़ा तैयार कराया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.