मां, गुरु और मित्र का जीवन में महत्वपूर्ण योगदान : विरमानी

जागरण संवाददाता, रोहतक :

ओमप्रकाश विरमानी ने कहा कि हमारे जीवन में तीन व्यक्तियों का महत्वपूर्ण योगदान होता है। प्रथम मां, द्वितीय गुरु व तृतीय मित्र। इनके सहयोग के बिना कोई भी व्यक्ति अपने जीवन में सफल नहीं हो सकता। वह रविवार को माता धनपति चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा भारती कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में आयोजित बाल संस्कार कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। विरमानी ने कहा कि इनके ऋण से कभी मुक्त नहीं हो सकते। इनका सम्मान करना वास्तव में सफलता का मान करना है। हर मुश्किल को वो आपसे दूर कर देती है। मां खुद कष्ट सहन करके हमें सुखी करने का प्रयास करती है। उसके उपकार को हम कभी न भूले। गुरु हमे अंधकार से प्रकाश की ओर ले जाते हैं और सही मार्गदर्शन करते हैं। और मित्र यानि हमारी संगत कैसी है यह भी हमारी सफलता को निश्चित करती है। अच्छे व सच्चे मित्र हमेशा आपके साथ रहते हैं जबकि बुरे व स्वार्थी मित्र आपको हमेशा कष्ट ही देंगे। माता धनपति देवी के संरक्षक गो¨वद राम ¨सघल ने बच्चों को हर परिस्थिति में प्रसन्न रहने के उपाय बताएं और कहा कि किसी भी परिस्थिति में आत्मविश्वास बनाए रखना और प्रभू पर विश्वास रखना उससे निकलने का एकमात्र उपाय है।

इस अवसर पर हरि प्रकाश गुप्ता, संजय चावला, डा. मीनाक्षी कौशिक, राम अवतार शास्त्री, कृष्ण दत्त, गो¨बद राम ¨सघल, तरूण, अजेश गुप्ता, दिनेश गर्ग, वेद प्रकाश साहनी, प्रवीन बंसल, नरेश जैन, विजय ¨सगला आदि गणमान्य सदस्य उपस्थित रहे।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.