विरोध के चलते ई-आक्शन स्थगित, अब 20 के बाद तय होगी नई तारीख

जागरण संवाददाता रोहतक हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण(एचएसवीपी) ने भारी विरोध के चलते

JagranFri, 17 Sep 2021 06:31 AM (IST)
विरोध के चलते ई-आक्शन स्थगित, अब 20 के बाद तय होगी नई तारीख

जागरण संवाददाता, रोहतक

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण(एचएसवीपी) ने भारी विरोध के चलते ई-आक्शन स्थगित कर दी है। शुक्रवार को काठमंडी(सेक्टर-21 पार्ट कमर्शियल), आटो मार्केट(सेक्टर-18) और ट्रांसपोर्ट नगर(सेक्टर-18ए) के लिए ई-आक्शन कराने का फैसला लिया था। पंचकूला स्तर से तारीख तय की गई थी। अब विरोध के चलते तय किया गया है कि 20 सितंबर के बाद नए सिरे से ई-आक्शन की तारीख तय होगी।

काठमंडी, आटो मार्केट और ट्रांसपोर्ट नगर की सभी मार्केट यूनियन ने ई-आक्शन का विरोध किया था। यह भी फैसला लिया था कि किसी भी सूरत में कोई भी यूनियन और दुकानदार एचएसवीपी की ई-आक्शन में भाग नहीं लेंगे। इन सभी सेक्टरों में प्लाट खरीदने के लिए रेट अधिक होने के साथ ही अव्यवस्थाओं का हवाला दिया था। एचएसवीपी के सूत्रों का कहना है कि यूनियनों के विरोध के बाद रोहतक से जुड़े अधिकारियों ने उच्चाधिकारियों से वार्ता की। पूरी स्थिति से भी अवगत कराया था। विरोध के साथ ही ई-आक्शन के बहिष्कार के फैसले की जानकारी भी पंचकूला मुख्यालय भेजी गई थी। बताते हैं कि भारी विरोध को देखते हुए ई-आक्शन के लिए नए सिरे से तारीख तय करने का फैसला लिया गया है।

अब संयुक्त वार्ता के होंगे प्रयास, यूनियनों को मनाने की रहेगी कोशिश

साल 2018 से काठमंडी, ट्रक और आटो मार्केट की शिफ्टिग के लिए सेक्टर-18, सेक्टर-18ए और सेक्टर-21 पार्ट में प्लाट बेचने की कोशिश की गई। हर बार विरोध भारी विरोध हुआ। सस्ती दरों पर प्लाट खरीदने के लिए दुकानदार और यूनियन जोर देती रहीं। इन सेक्टरों में सुविधाओं के टोटे का भी मामला उछलता रहा है। अधिकारी दावा करते हैं कि कलेक्टर रेट में ही प्लाट बेचे जा रहे हैं। एचएसवीपी के सूत्रों का कहना है कि नए सिरे से एचएसवीपी के अधिकारी दुकानदारों और यूनियनों को मनाने की कवायद शुरू कर सकते हैं। सभी यूनियनों के साथ संयुक्त रूप से या फिर एक-एक यूनियन के साथ वार्ता हो सकती है। जिससे विरोध थामा जा सके।

--------------

ई-आक्शन स्थगित हो गई है। वीरवार को हमारे पास मुख्यालय से मैसेज आ चुका है। अब 20 सितंबर के बाद नए सिरे से ई-आक्शन की तारीख तय होगी।

श्वेता सुहाग, संपदा अधिकारी, एचएसवीपी

--

संपदा कार्यालय की तरफ से हमारे पास कोई संदेश नहीं आया है। यदि फोन भी आता तो भी हम वार्ता के लिए नहीं जाते। बार-बार गुमराह करके प्लाट बेचने की साजिश रची जा रही है। हम अव्यवस्थाओं वाले सेक्टरों में महंगे दामों में प्लाट क्यों खरीदें।

मुकेश शर्मा, उप प्रधान, हिसार रोड स्थित विश्वकर्मा ट्रक-आटो एसोसिएशन

--

न हमारे पास कोई फोन आया और न हमने संपर्क किया। जब हमें ई-आक्शन में भाग ही नहीं लेना था तो फिर हम क्यों बेवजह ही संपर्क करें।

उम्मेद सिंह, प्रधान, काठमंडी एसोसिएशन

--

एचएसवीपी के संपदा कार्यालय ने कोशिश की थी कि कैसे भी दो-चार दुकानें बिक जाएं। फिर वही रेट फाइनल करके दुकानें और प्लाट बेचना शुरू करने की तैयारी थी। सरकार और अधिकारियों की किसी भी साजिश को हम कामयाब नहीं होने देंगे।

संजय दलाल, प्रधान, हिसार रोड ट्रक-आटो मार्केट

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.