फिर चंडीगढ़ से पहुंचे चीफ इंजीनियर, गांधी कैंप में मिली दूषित पानी की आपूर्ति

फिर चंडीगढ़ से पहुंचे चीफ इंजीनियर, गांधी कैंप में मिली दूषित पानी की आपूर्ति
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 09:25 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, रोहतक : शहरी क्षेत्र में दूषित पानी की आपूर्ति को लेकर एक बार फिर से जांच करने के लिए चंडीगढ़ से चीफ इंजीनियर पहुंचे। पिछली बार बैठक के दौरान जनस्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने 15 दिन का समय मांगा था। हालांकि निर्धारित अवधि के बावजूद भी समस्याओं का निस्तारण न होने पर विधायक ने नाराजगी जताई। विभागीय अधिकारियों ने पहले की तुलना में बेहतर परिणाम होने की बात कही। लेकिन कांग्रेसी पार्षदों ने अधिकारियों की दावों की पोल खोल दी।

सर्किट हाउस में विधायक भारत भूषण बतरा ने बैठक की। सर्किट हाउस में आयोजित हुई बैठक में चीफ इंजीनियर देवेंद्र दहिया, एसई विशाल बंसल ने विभाग की तरफ से पक्ष रखा। वार्ड-11 के पार्षद कदम सिंह अहलावत ने बताया है कि गांधी कैंप में अभी भी दूषित पानी की आपूर्ति को लेकर शिकायत मिली है। विधायक ने नाराजगी जताते हुए सीधे कहा कि साफ पानी की सौ फीसद आपूर्ति करनी होगी। फिलहाल यहां सीवरेज और मिट्टी का मिश्रित पानी आ रहा है। वार्ड-15 कांग्रेस पार्षद गुलशन ईशपुनियानी ने अपने वार्ड में दूषित पानी की आपूर्ति को लेकर शिकायत की। वहीं, पूर्व पार्षद नौरातामल भटनागर ने कायस्थान मुहल्ला, बड़ा बाजार क्षेत्र में होने वाली दूषित पानी की आपूर्ति का मामला उठाया। अधिकारियों ने इन समस्याओं का निस्तारण करने की बात कही।

पार्षद ने कहा, कब तक बहाने बनाएंगे

पार्षद कदम सिंह ने दिल्ली रोड पर सेक्टर के रिलीज एरिया यानी आइजी आफिस के सामने वाले क्षेत्र में बरसाती पानी की निकासी के लिए पाइप लाइन बिछाने का मामला रखा। इन्होंने दावा किया है कि बरसाती सीजन में यहां जल जमाव हो जाता है। वहीं, विनय नगर में सीवरेज अव्यवस्था को लेकर भी नाराजगी जताई। यह भी कहा कि आखिर कब तक अधिकारी बहाने बनाएंगे। इन्होंने कहा कि विनय नगर में बड़ी पाइप लाइन बिछाने का कार्य होना था, लेकिन अभी तक नहीं हुआ।

अमृत के कार्यों में तेजी लाएं, जलघरों की होगी सफाई

अमृत योजना के कार्यों में तेजी लाने के लिए आदेश दिए गए हैं। अमृत योजना के तहत होने वाले कार्यों जैसे सीवरेज लाइन, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, डिस्पोजलों के निर्माण कार्यों की समीक्षा की। पेयजल आपूर्ति लाइन बिछाने और बूस्टिग स्टेशनों के कार्यों की समीक्षा भी गई है। दूसरी ओर, शहरी क्षेत्र के जलघरों की सफाई के कार्य में सामने आ रहीं अड़चनों को लेकर भी मंथन किया। इस प्रकरण में नगर निगम प्रशासन से भी जवाब मांगने की तैयारी है। वर्जन

जनता को साफ पानी की जरूरत है। विभागीय अधिकारी आश्वासन के साथ ही ठोस रणनीति के साथ कार्य कराएं। 15 दिन के अंदर बेहतर पेयजल आपूर्ति को लेकर दावे किए थे। जो भी अधूरे कार्य पड़े हैं वह दुरूस्त कराने होंगे। अब बहाने नहीं चलेंगे।

भारत भूषण बतरा, विधायक, रोहतक

---- यह बोले पार्षद व शहर के लोग :::

गढ़ी मुहल्ला में पहले पानी आता नहीं था। अब पानी आ रहा है तो सीवरेज मिश्रित पानी आ रहा है। इस पानी को पीने की छोड़िए कुल्ला तक नहीं कर सकते हैं। पानी से कपड़े धो नहीं सकते और स्नान भी नहीं कर सकते।

राजेश बोहत, गढ़ी मुहल्ला

--

बैठक को लेकर हमें कोई जानकारी नहीं है। गांधी कैंप में समस्या का समाधान तभी होगा जब 50-60 साल पुराने पाइप बदले जाएंगे। दूसरी समस्या यहां यह भी है कि पानी की लीकेज को चेक करने गड्ढे खोदकर डाल दिए जाते हैं। लोगों के कनेक्शन भी काट दिए जाते हैं। विभाग जब भी गड्ढे खोदे तो नई लाइन से पहले कनेक्शन दे और इसके बाद यहां कार्य कराए।

राधेश्याम ढल, भाजपा पार्षद, वार्ड-14

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.