गंदे पानी ने बिगाड़ी धारूहेड़ा की आबोहवा

गंदे पानी ने बिगाड़ी धारूहेड़ा की आबोहवा

सालों से भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र से दूषित पानी धारूहेड़ा व इसके आसपास के गांवों में छोड़ा जा रहा है। दरअसल एक नाला भिवाड़ी से धारूहेड़ा तक आ रहा है जिसमें बिना पानी को साफ किए ही छोड़ दिया जाता है। दूषित पानी के कारण धारूहेड़ा क्षेत्र की जमीन बंजर हो चुकी है

JagranFri, 26 Feb 2021 07:07 PM (IST)

जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 48 पर दिल्ली से जयपुर जा रहे हों या फिर जयपुर से दिल्ली, धारूहेड़ा में प्रवेश करते ही आपको अपने नाक पर कपड़ा रखना ही होगा। सरकार को करोड़ों का राजस्व देने वाले धारूहेड़ा औद्योगिक क्षेत्र की यह नई पहचान बन गई है। धारूहेड़ा की इस बदहाली के लिए सीधे तौर पर जिम्मेदार है भिवाड़ी से आने वाला दूषित रसायनयुक्त पानी। भिवाड़ी के औद्योगिक क्षेत्र से छोड़े जा रहे गंदे पानी ने धारूहेड़ा की आबोहवा को पूरी तरह से दूषित कर दिया है।

-----------

मनमर्जी पर उतारू भिवाड़ी प्रशासन

सालों से भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र से दूषित पानी धारूहेड़ा व इसके आसपास के गांवों में छोड़ा जा रहा है। दरअसल एक नाला भिवाड़ी से धारूहेड़ा तक आ रहा है जिसमें बिना पानी को साफ किए ही छोड़ दिया जाता है। दूषित पानी के कारण धारूहेड़ा क्षेत्र की जमीन बंजर हो चुकी है लेकिन भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र से जुड़े अधिकारियों ने कोई सुधार नहीं किया है और न ही जिला प्रशासन की ओर से कोई कड़ा कदम उठाया गया है। धारूहेड़ा नपा की पूर्व चेयरपर्सन सुमित्रा मुकदम ने भिवाड़ी से आ रहे गंदे पानी की रोकथाम के लिए राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण का भी दरवाजा खटखटाया था। एनजीटी ने इस मामले में अधिकारियों की टीम को भी भिवाड़ी और धारूहेड़ा भेजा था, जिसमें यह सच सामने आया था कि भिवाड़ी के उद्योगों से निकलने वाला दूषित पानी धारूहेड़ा में छोड़ा जाता है। इसके बाद राजस्थान राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों को नोटिस भी जारी किया गया था। इसपर भिवाड़ी के अधिकारियों ने दूषित पानी को रोकने पर सहमति जताई थी। एनजीटी ने राजस्थान सरकार को सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट बनाने व पानी को साफ करके ही छोड़ने के आदेश दिए थे। भिवाड़ी में चार एसटीपी प्लांट बन चुके हैं लेकिन आरोप यही लग रहे हैं कि फैक्ट्रियों के पानी को बिना साफ किए ही छोड़ा जा रहा है।

-----------

घरेलु पानी भी जा रहा है इसी नाले में

भिवाड़ी औद्योगिक क्षेत्र के अतिरिक्त धारूहेड़ा के भी कई गांवों व कालोनियों का पानी इसी नाले में जा रहा है।

-----------------

सेक्टरों में भर गया गंदा पानी

सेक्टर 4,6, बेस्टेक के पास व औद्योगिक क्षेत्र में कई एकड़ में गंदा काला पानी भरा हुआ है।

-------------

अगर शीघ्र ही इस पानी को रोका नहीं गया तो धारूहेड़ा में रहना ही मुश्किल हो जाएगा। राजस्थान व हरियाणा के अधिकारियों को इस मामले में समाधान निकालना चाहिए।

-कृष्ण यादव, पूर्व प्रधान आरडब्ल्यूए सेक्टर 4

-----------------

रसायनयुक्त पानी से जमीन बंजर हो चुकी है। नाले में आने वाले पानी को अगर रोक दिया गया तो राजस्थान के हालात खराब हो जाएंगे। समय रहते उपाय करने की जरूरत है।

-दीपक यादव

-----------------

कब बिछेगी 146 करोड़ की पाइप लाइन

भिवाड़ी में उद्योगों से निकलने वाले पानी के लिए 146 करोड़ रुपये से दो पाइप लाइन बिछाई जानी है। एक पाईप लाइन से दूषित पानी कामन सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में जाएगा तथा साफ होने के बाद वापस उद्योगों में ही सप्लाई होगा। राजस्थान सरकार की ओर से इस प्रोजेक्ट का बजट भी जारी कर दिया गया है लेकिन यह प्रोजेक्ट आजतक भी सिरे नहीं चढ़ पाया है।

------------

उपायुक्त द्वारा अगले सप्ताह राजस्थान के अधिकारियों के साथ बैठक की जाएगी। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण व नेशनल हाईवे अथारिटी के क्षेत्र से नाला गुजर रहा है इसलिए इन विभागों के अधिकारियों को कार्रवाई करने की आवश्यकता है। हम भी लगातार जिला के आला अधिकारियों से संपर्क में है। इस समस्या के दो ही समाधान है। या तो पानी को रोका जाए या फिर इसको साफ किया जाए।

-अनिल कुमार, सचिव नगर पालिका धारूहेड़ा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.