स्वयं सेवक संघ ने शस्त्र पूजन कर मनाई विजयादशमी

स्वयं सेवक संघ ने शस्त्र पूजन कर मनाई विजयादशमी
Publish Date:Sun, 25 Oct 2020 05:20 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, रेवाड़ी: राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का स्थापना दिवस व विजयादशमी का उत्सव जिलेभर में 47 स्थानों पर मनाया गया। इस दौरान शस्त्र पूजन की परंपरा का निर्वाहन करते हुए वक्ताओं ने संबोधित भी किया।

संघ रूपी पौधा बना वटवृक्ष

कोविड नियमों का पालन करते हुए आरएसएस की ओर से एक ही स्थान पर अधिक स्वयं सेवकों को एकत्रित नहीं किया गया बल्कि प्रत्येक मंडल पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। ग्रामीण अंचल में संघ के 41 मंडल है जिनपर कार्यक्रम आयोजित हुए। वहीं, रेवाड़ी व धारूहेड़ा नगर में छह कार्यक्रम आयोजित किए गए। प्रत्येक कार्यक्रम में शस्त्र पूजन भी किया गया। आदर्श विद्या मंदिर में आयोजित कार्यक्रम को प्रांत कार्यवाह सुभाष आहूजा ने आनलाइन ही संबोधित किया। उन्होंने कहा कि वर्ष 1925 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ रूपी जो पौधा लगाया गया था। वह अब वट वृक्ष बन गया है। उन्होंने कहा कि आरएसएस का एक-एक कार्यकर्ता समाज जागरण के काम में जुटा हुआ है। ग्राम विकास, सामाजिक समरसता, कुटुम्ब प्रबोधन, गोसेवा, धर्म जागरण व पर्यावरण संरक्षण जैसे विषयों को लेकर हर स्तर पर कार्य किया जा रहा है। सेक्टर-चार में आयोजित कार्यक्रम में जिला संघ चालक अजय मित्तल व धारूहेड़ा में आयोजित कार्यक्रम में जिला कार्यवाह सुभाष मुख्य वक्ता रहे। अपने संबोधन में वक्ताओं ने बताया कि कोविड काल में भी एक-एक स्वयंसेवक अपनी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। सेवा विभाग के माध्यम से जनसेवा के कार्य लगातार चल रहे हैं तथा भोजन से लेकर मास्क तक जरूरतमंदों को मुहैया कराए जा रहे हैं। इसके अतिरिक्त कुटुम्ब प्रबोधन गतिविधियों के तहत परिवारों को संगठित करने के लिए कार्यक्रम भी लगातार चलाए जा रहे हैं। जिला कार्यवाह सुभाष ने श्रीराम मंदिर निर्माण में स्वयं सेवक संघ की भूमिका पर विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम में देवेंद्र, विकास, हुकम, राजेश, अंकुर व अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

नहीं निकाला गया पथ संचलन

हर वर्ष विजयादशमी के उत्सव पर संघ कार्यकर्ताओं की ओर से नगर में पथ संचलन भी किया जाता है लेकिन इस बार कोविड को देखते हुए पथ संचलन के कार्यक्रम को पूरी तरह से रद कर दिया गया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.