top menutop menutop menu

जीवन को तनाव रहित बनाता है योग

जागरण संवाददाता, रेवाड़ी : इंदिरा गांधी विश्वविद्यालय मीरपुर में ऑनलाइन माध्यम से योग आयुर्वेद एवं इम्यूनिटी विषय पर चल रहे दो दिवसीय वेबिनार का बृहस्पतिवार को समापन हो गया। समापन अवसर पर आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हरियाणा स्वास्थ्य सेवाओं की निदेशक एवं स्टेट हेल्थ सिस्टम्स रिसोर्स सेंटर हरियाणा की कार्यकारी निदेशक डॉ. सोनिया त्रिखा रही। श्री कृष्णा आयुष विश्वविद्यालय कुरुक्षेत्र के कुलपति मुख्य वक्ता डॉ. बलदेव कुमार ने कहा कि आयुर्वेद के अनुसार स्वस्थ होने का अर्थ केवल शरीर से स्वस्थ होना ही नहीं, अपितु मानसिक तौर पर स्वस्थ होना भी आवश्यक है। योग मनुष्य को तनाव रहित एवं मानसिक रूप से स्वस्थ रखने में सहायक होता है, क्योंकि इससे आपका चितन सकारात्मक हो जाता है। उन्होंने विभिन्न आहार-विहार, औषधीय चिकित्सा एवं पंचकर्म आदि के बारे में भी विस्तार से बताया। डॉ सोनिया त्रिखा ने आयुर्वेद एवं एलोपैथिक चिकित्सा विधि में परस्पर संबंध बताते हुए कहा कि बहुत सी खोज जो विज्ञान के द्वारा आज के समय में की जा रही है, उनके बारे में आयुर्वेद में बहुत पहले लिखा जा चुका है। कोरोना जैसी महामारी का ईलाज ढूंढने के लिए आयुर्वेद एवं वर्तमान एलोपैथिक चिकित्सा पद्धतियां साथ साथ मिलकर काम कर सकती है और एक दूसरे की पूरक साबित हो सकती हैं। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एसके गक्खड़ ने कहा कि यह विश्वविद्यालय के लिए गर्व का विषय है कि हमने बहुत थोड़े समय में इस प्रकार के राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर के कई आयोजन किए हैं। कार्यक्रम के संयोजक एवं योग विभाग के अध्यक्ष डॉ. सुरजीत सिंह डबास ने सभी का आभार जताया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.