हरियाणा के इन 3 जिलों में मौसम में होगा तेजी से बदलाव, जानिए अगले 24 घंंटे में कैसा रहेगा मौसम

Weather forecast today 7 December 2021 पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने के बाद पिछले 24 घंटे में तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक हाल ही में कुछ हिस्सों में हुई बरसात व पहाड़ों में हुई बर्फबारी से बदलेगी आबोहवा।

Anurag ShuklaWed, 08 Dec 2021 05:30 AM (IST)
हरियाणा के कई जिलों में गिरेगा तापमान।

करनाल, जागरण संवदादाता। Weather forecast today 7 December 2021: काफी दिनों के बाद अब दिसंबर के बाकी दिन ओर अधिक ठंडे बीतेंगे। मौसम विभाग के अनुसार हरियाणा, हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में हाल ही में हुई बरसात ने ठंड के मौसम की स्थिति निर्धारित कर दी है। पहाड़ों में बर्फबारी व बरसात आने वाले दिनों में बर्फीली हवाओं के लिए ट्रिगर प्रदान करेगी। इससे पहले, मानसून की देर से वापसी और नवंबर में कुछ छिटपुट बरसात ने मौसमी बरसात को अब तक के सामान्य निशान से काफी ऊपर खींच लिया है। आगामी सप्ताह या 10 दिन संयम बरतेंगे और आम तौर पर शुष्क दिनों का पालन करेंगे।

पहाड़ों की ढलानों पर चलने वाली बरसात और ठंडी हवाओं के अभाव में, अधिकांश स्थानों पर रात का तापमान एक अंक तक गिरने की संभावना है। बादल रहित आसमान पूरे क्षेत्र में दिन के तापमान को कम और 20 के मध्य तक बढ़ाने के लिए अच्छी धूप प्रदान करेगा। पंजाब के सीमावर्ती इलाके सबसे ठंडे रहने की संभावना है।

पश्चिमी विक्षोभ के गुजरने के बाद पिछले 24 घंटे में तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई है। अगले 5-7 दिनों में इनमें और गिरावट आने की संभावना है। सर्दियों में सबसे ठंडे स्थान 5 से 6 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेंगे।

हिसार, नारनौल व करनाल के तापमान में सबसे ज्यादा गिरावट आ सकती है

केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक हरियाणा में तापमान की एक विस्तृत श्रृंखला होगी। जबकि हिसार, नारनौल और करनाल न्यूनतम तापमान 5 से 6 डिग्री सेल्सियस के साथ सबसे कम रहेंगे। जबकि रोहतक, रेवाड़ी, झज्जर और मेवात के साथ-साथ एनसीआर शहरों में लगभग 8-9 डिग्री सेल्सियस तक दर्ज किया जा सकता है। दिल्ली में भी इस अवधि के दौरान एक अंक के तापमान का एक और दौर होगा।

इस समय यह बनी हुई है मौसम की परिस्थितियां

मौसम विभाग के मुताबिक इस समय एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश तट पर बना हुआ है। एक ताजा पश्चिमी विक्षोभ कल 8 दिसंबर से पश्चिमी हिमालय को प्रभावित करेगा। निचले स्तरों में कोमोरिन क्षेत्र के ऊपर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। एक अन्य चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र महाराष्ट्र तट के पास पूर्व मध्य अरब सागर के ऊपर बना हुआ है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.