Paper Leak: CBSE में पेपर लीक का अनोखा मामला, कई छात्रों के हाथ में लिख डाली आंसर की

यूपीटीईटी में पेपर लीक मामले में बाद अब सीबीएसई में भी बोर्ड पेपर लीक होने का मामला सामने आया है। केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई में कई छात्रों के हाथ टाई और शर्ट में आंसर की लिख डाली गई।

Anurag ShuklaPublish:Sat, 04 Dec 2021 04:14 PM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 06:35 PM (IST)
Paper Leak: CBSE में पेपर लीक का अनोखा मामला, कई छात्रों के हाथ में लिख डाली आंसर की
Paper Leak: CBSE में पेपर लीक का अनोखा मामला, कई छात्रों के हाथ में लिख डाली आंसर की

पानीपत, जागरण संवाददाता। केंद्रीय माध्‍यमिक शिक्षा बोर्ड यानी सीबीएसई की बोर्ड परीक्षा में नकल कराने के लिए एक स्‍कूल ने अपने सारे बच्‍चों को ही नकलची बना दिया। किसी के हाथ पर तो किसी के टाई पर और किसी के शर्ट पर प्रश्‍नपत्र के उत्‍तर लिखवा दिए। इस स्‍कूल के बच्‍चे पेपर देते हुए जब बार-बार अपना हाथ और टाई देख रहे थे तो परीक्षा ले रहे शिक्षक को शक हुआ। उन्‍होंने जब एक बच्‍चे का हाथ देखा तो दंग रह गए। उस हाथ पर पेपर के सभी उत्‍तर लिखे हुए थे। डांटने पर उसने बताया कि स्‍कूल के टीचर ने यह उत्‍तर लिखवाकर परीक्षा केंद्र में भेजा है। थोड़ी देर में ही पोल खुल गई। ये सभी बच्‍चे पावटी रोड आशादीप स्‍कूल के थे।

दरअसल सीबीएसई के 10वीं के टर्म वन परीक्षा चल रही है। आशादीप स्‍कूल में परीक्षा का केंद्र बना हुआ है। आरोप है कि इस स्‍कूल के संचालक ने पेपर निकालकर उसकी आंसर की हाथों में लिखवा दी। फिर इन बच्‍चों गढ़ी छाजू रोड पर हरे कृष्णा इंटर नेशनल स्कूल में भेजा दिया।

एक घंटा पहले पेपर आ जाने के बाद किया लीक

दरअसल जिस स्‍कूल को परीक्षा केंद्र बनाया जाता है, उस स्‍कूल के पास आनलाइन एक घंटा पहले पेपर पहुंच जाता है। आशादीप स्‍कूल को भी सेंटर बनाया गया था। इस स्‍कूल के 101 बच्‍चों को हरे कृष्‍णा स्‍कूल में पेपर देना था। आरोप है कि अपने स्‍कूल के बच्‍चों की रैंकिंग बढ़ाने के लिए इस स्‍कूल के संचालक ने नकल कराने के लिए बच्‍चों के हाथों में आंसर की लिखवा दी। अब स्‍कूल के सभी 101 बच्‍चों की गणित की परीक्षा रद्द हो सकती है।

खतरे में स्‍कूल का सेंटर

सीबीएसई के उच्‍च अधिकारियों को मामले से अवगत करा दिया गया है। जांच के लिए टीम भी पहुंच गई थी। बच्‍चों के हाथ की टाई शार्ट की भी फोओ खींच ली गई। अब आशदीप स्‍कूल का सेंटर रद हो सकता है। वहीं, स्‍कूल के निदेशक अंकुश का कहना है कि उन्‍हें फंसाया जा रहा है। न तो पेपर लीक किया और न ही किसी बच्‍चे को आंसर की बताईं। अगर किसी के पास पर्ची पकड़ी भी गई तो दूसरी आंसर शीट देकर पेपर कराया जा सकता था। वह हरेकृष्‍णा स्‍कूल पर केस दर्ज कराएंगे।