Traffic Rules: नियमों की उड़ रही थी धज्जियां, पुलिस फरमा रही थी आराम, अब एसपी ने संभाला मोर्चा

यमुनानगर में ट्रैफिक नियमों की पूरी तरह से अनदेखी हो रही है। वाहन चालक भी बैखोफ होकर सड़कों पर उतर रहे थे और ट्रैफिक नियम तोड़ते नजर आ रहे है। बावजूद इसके पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

Rajesh KumarPublish:Wed, 01 Dec 2021 02:24 PM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 02:24 PM (IST)
Traffic Rules: नियमों की उड़ रही थी धज्जियां, पुलिस फरमा रही थी आराम, अब एसपी ने संभाला मोर्चा
Traffic Rules: नियमों की उड़ रही थी धज्जियां, पुलिस फरमा रही थी आराम, अब एसपी ने संभाला मोर्चा

जागरण संवाददाता, यमुनानगर। वाहन चालक यातायात नियमों को तोड़ रहे हैं। किसी के वाहन पर नंबर प्लेट नहीं है तो कोई बाइक हेलमेट पहन कर नहीं चलाता। यहां तक की ट्रिपल राइडिंग करने वाले भी चौक चौराहों पर खड़ी पुलिस के सामने से निकल जाते हैं। परंतु पुलिस इनके ऊपर कोई कार्रवाई नहीं कर पाती। नियमों काे तोड़ने वालों के पुलिस चालान तक नहीं काट पा रही है। यही वजह है कि पुलिस गत वर्ष के मुकाबले चालान के मामले में काफी पिछड़ी हुई है। ऐसे में एसपी अब शहर के साथ लगते सभी एसएचओ से रोजाना रिपोर्ट लेंगे कि उन्होंने दिनभर में कितने चालान काटे हैं। एसपी कमलदीप गोयल ने बताया कि यातायात नियमों की पालना करेंगे तभी हादसे कम होंगे। इसलिए नियम तोड़ने वाले किसी भी वाहन चालक पर किसी तरह की मेहरबानी नहीं होगी। सभी पर एक समान कार्रवाई की जाएगी।

गत वर्ष के मुकाबले 10 हजार चालान कम

गत वर्ष पुलिस ने जनवरी से दिसंबर तक 12 माह में करीब 27 हजार वाहन चालकों के चालान काटे थे। जबकि इस साल के 11 माह बीत चुके हैं परंतु पुलिस केवल 17 हजार चालान ही काट पाई है। जो कि गत वर्ष से 10 हजार कम है। इसलिए एसपी ने ट्रैफिक एसएचओ, थाना शहर यमुनानगर, थाना शहर जगाधरी, थाना सदर जगाधरी, थाना बूड़िया, थाना सदर यमुनानगर से रोजाना चालान की रिपोर्ट लेने का निर्णय लिया है। इसके लिए एक प्रफोर्मा भी सभी एसएचओ को दिया गया है। जिसमें उन्हें बताना होगा कि उन्होंने रोजाना किस तरह के चालान किए हैं और कितने लाइसेंस सस्पेंड करने के लिए लिखा है। थाना ट्रैफिक एसएचओ संदीप कुमार का कहना है कि चालान की संख्या बढ़ा दी है। इसलिए सभी यातायात नियमों की पालना करे।

बढ़ रहा हादसों का ग्राफ

पुलिस की इस सुस्ती की वजह से ही हादसों का ग्राफ काफी बढ़ रहा है। क्योंकि सड़कों पर एेसे वाहनों की संख्या भी कम नहीं है जिनके आगे पीछे नंबर प्लेट तक नहीं है। ऐसे वाहन चालक शहर व ग्रामीण क्षेत्र स्नेचिंग की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं। वह पलक झपकते ही महिलाओं के हाथ से पर्स व मोबाइल झपट कर फरार हो जाते हैं। यदि आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज में वारदात कैद हो भी जाए तो चेहरे पर मास्क लगा होने या फिर हेलमेट रखा होने की वजह से वह पहचान में नहीं आते। वहीं बाइक पर नंबर प्लेट न होने से भी वह पकड़ में नहीं आ पाते। इसके अलावा शहर व हाईवे पर कार चालक बिना सीट बेल्ट के चलते हैं। जबकि पिछले कुछ दिनों में सड़क हादसों की संख्या में काफी बढ़ोतरी हुई। यदि पुलिस सख्ती करे तो इसमें सुधार हो सकता है। यही वजह है कि एसपी ने सभी एसएचओ से कहा है कि वह यातायात नियम तोड़ने वालों पर पूरी सख्ती करे। किसी को भी बख्शा न जाए।

पार्कों के पास गश्त बढ़ाने के आदेश

एसपी कमलदीप गोयल ने पुलिस को आदेश दिए हैं कि वह शहरी क्षेत्र में पार्कों के आसपास गश्त बढ़ाए। पार्कों के पास कोई भी बेवजह गाड़ी में खड़ा न होने पाए। यदि वहां कोई वाहन चालक शराब पीता हुआ दिखे तो उसके खिलाफ तुरंत केस दर्ज किया जाए। क्योंकि गत दिनों हुई रोड सेफ्टी की मीटिंग में यमुनानगर विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने भी पार्कों के बाहर अवैध रूप से शराब परोसे जाने व शराब पीकर झगड़े किए जाने का मामला उठाया था। जिसके बाद पुलिस एक्शन मोड में है।