top menutop menutop menu

80 खंभे धराशायी, बिजली-पानी को तरसे लोग

जागरण संवाददाता, पानीपत : बारिश और तेज आंधी ने शनिवार रात को शहरभर में ब्लैकआउट कर दिया। 33 केवी कुटानी रोड, 33 केवी मिनी सेक्ट्रेट और आरके फीडर की लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण सनौली रोड डिविजन को छोड़ बाकी तीनों डिविजन की बिजली ठप हो गई। आधे से अधिक शहर की लाइट रात नौ बजे तक भी सुचारू नहीं हो सकी। दिनभर बिजली निगम में फोन घनघनाते रहे।

बिजली लाइन पर पेड़ गिरने से शहरभर में बिजली के करीब 80 खंभे गिर गए। रविवार दोपहर दो बजे तक सनौली रोड बिजलीघर समेत शहर के कुछ हिस्सों की बिजली चालू की गई। सनौली रोड बिजलीघर के उपभोक्ताओं को मिनी सेक्ट्रेट के बजाय रेलवे रोड लाइन से सप्लाई दी गई। किला डिविजन की देशराज कालोनी, ओल्ड जगन्नाथ विहार, भावना चौक, आरके पब्लिक स्कूल क्षेत्र, अशोक विहार और सुखदेव नगर के कुछ क्षेत्र के लाइट गुल रही। मॉडल टाउन में करीब 45 खंभे उखड़ गए और पांच ट्रांसफार्मर क्षतिग्रस्त हुए। आधे शहर में शनिवार रात दो बजे से रविवार पूरा दिन बिजली आपूर्ति सुचारू नहीं हो सकी। जिस कारण लोगों को बिजली के साथ पानी के लिए परेशानी का सामना करना पड़ा। उधर, सिटी एक्सईएन संजीव शर्मा ने बताया कि रविवार को दिनभर मेंटिनेंस का कार्य जोरों पर रहा।

फोटो 24

अस्पताल परिसर में टूटे चार पेड़ :

शनिवार की रात्रि बरसात के साथ करीब डेढ़ घंटे चली आंधी के कारण ईएसआइ अस्पताल परिसर में चार पेड़ टूटकर गिर गए। एक पेड़ को अस्पताल के मुख्य द्वार के पास टूटकर गिरा। जहां पेड़ टूटकर गिरा वहां रोजाना 10-12 वाहन और मरीज-तीमारदार खड़े रहते हैं। आंधी दिन में आती तो जान-मान की हानि हो सकती थी। इसके अलावा सिविल अस्पताल की बिजली पूरे दिन गुल रही, जेनरेटर उपयोग में लाया गया।

फोटो 25)

सेक्टर-छह से आने का रास्ता बंद

आंधी के कारण सेक्टर-छह की मुख्य सड़क पर(थाना के सामने) एक पेड़ टूटकर गिर गया। सेक्टर से जीटी रोड की ओर आने वाले लोगों को रॉन्ग साइड से आना पड़ा। इसके अलावा हाउसिग बोर्ड कालोनी के पास वाले पार्क में भी चार पेड़ों के बड़े तने टूटकर गिर गए।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.