दस किमी का सफर संभलकर चलना हनुमान, यहां कदम-कदम पर खतरा

पानीपत में दशहरा पर्व पर चार दिन तक हनुमान स्वरूप निकलते हैं। श्रीराम का जयकारा लगाते हुए नाचते हैं। निमंत्रण पर घरों में आरती करते हैं। हनुमान स्वरूप बनने वालों ने व्रत रखने शुरू कर दिए हैं। अष्टमी के दिन से दशहरे के अगले दिन तक पैदल नंगे पैर निकलते हैं। शहर में सनौली रोड पूरी तरह से खुदा पड़ा है।

JagranMon, 20 Sep 2021 04:53 AM (IST)
दस किमी का सफर संभलकर चलना हनुमान, यहां कदम-कदम पर खतरा

विनोद जोशी, पानीपत

पानीपत में दशहरा पर्व पर चार दिन तक हनुमान स्वरूप निकलते हैं। श्रीराम का जयकारा लगाते हुए नाचते हैं। निमंत्रण पर घरों में आरती करते हैं। हनुमान स्वरूप बनने वालों ने व्रत रखने शुरू कर दिए हैं। अष्टमी के दिन से दशहरे के अगले दिन तक पैदल नंगे पैर निकलते हैं। शहर में सनौली रोड पूरी तरह से खुदा पड़ा है। गोहाना रोड पर कदम-कदम पर खतरे हैं। तहसील कैंप टूटा है। सेक्टर 12 में बिना बारिश के पानी भरा रहता है। इसी तरह शहर की अन्य सड़कों की हालात काफी काफी खराब हो चुकी है।

हनुमान स्वरूप 40 दिन के व्रत पर बैठ चुके हैं जिसमें अब वह नंगे पैर ही रहते हैं और कहीं जाना हो तो नंगे पैर ही जाते हैं। इससे सड़कें खराब होने के कारण अब पैदल चल पाना काफी मुश्किल भरा काम है। इसमें शहर की सरकार नगर निगम ने सड़कों की मरम्मत करवाने के दावे कर रहे है, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही बता रही है। इसमें सड़कों पर नुकीले रोड़े व गड्ढे हनुमान स्वरूप के लिए गंभीर समस्या बनी हुई है। इसके लिए प्रशासन द्वारा कोई पेचवर्क नहीं किया गया। इन क्षेत्रों में पांच फीट तक गहरे गड्ढे

तहसील कैंप रोड : तहसील कैंप रोड वीआइपी क्षेत्र में आता है और हर साल यहीं से हनुमान स्वरूप यात्रा शुरू होती है और शहर के अन्य हिस्सों से होकर निकलती है। इस बार सड़क टूटी हुई है और नुकीले रोड़े हनुमान स्वरूप के लिए समस्या पैदा कर सकता है।

सनौली रोड : सनौली रोड पर गहरे गड्ढे और गंदा पानी भरा हुआ है। इस मार्ग से विभिन्न धार्मिक संगठनों के हनुमान स्वरूप की पदयात्रा निकलती है। इस मार्ग पर पांच फीट तक के गहरे गड्ढे बने हुए हैं। इससे हनुमान स्वरूप को काफी परेशानी आएगी। गहरे गड्ढे होने के कारण आए दिन हादसे हो रहे।

सेक्टर 12 : सेक्टर 12 की सड़कों का काफी बदहाल है। यहां बिना बारिश के भी गंदा पानी सड़कों पर भरा रहता है। यहां से भी हनुमान स्वरूप की यात्रा करनी होती है। अभी तक इस मार्ग पर पेचवर्क तो किया गया है, लेकिन बारिश के बाद फिर से हालात काफी खराब हो गए। दस किलोमीटर का करते हैं सफर

हनुमान स्वरूप 40 दिन तक हनुमान स्वरूप का व्रत रखते हैं। 13 से 16 अक्टूबर तक रोज 10 किलोमीटर से ज्यादा शहर में सड़कों पर पदयात्रा निकालते हैं। इस दौरान कोई परेशानी न आए हनुमान भक्त पूरा ख्याल रखते हैं, लेकिन सड़कें ही जब खराब हो तो गड्ढों गिरी सड़कों पर यात्रा निकालना हनुमान स्वरूप को काफी परेशानी हो सकती है। काफी मुश्किल होगा इस बार सफर

हनुमान स्वरूप अरुण सेठी ने जागरण से बातचीत में बताया कि शहर की सड़कों पर हर जगह गड्ढे बने हुए है। सनौली रोड से होकर पदयात्रा निकलती है। इस बार पद यात्रा का सफर काफी मुश्किल होगा। प्रशासन ने सड़कों को ठीक करवाना चाहिए।

नुकीले रोड़े चुभ जाते हैं पैर में

हनुमान स्वरूप यश चानना ने जागरण से बातचीत में बताया कि सड़कें खराब होने के कारण नुकीले रोड़े पैरों में चुभ जाते हैं और इस दौरान हर हालात में ही यात्रा जारी रखनी होती है। पहले की सड़कें काफी अच्छी थी अब सड़कों लेवल काफी खराब हो चुका। लोगों का क्या कहना

हर दिन हो रहे हादसे

सनौली रोड निवासी सलीम ने जागरण से बातचीत में बताया कि सनौली रोड शिव चौक के नजदीक की सड़कें काफी बदहाल हो चुकी है। यहां आए दिन हादसे होते रहते है। छोटे वाहन पलट जाते हैं

सनौली रोड निवासी राज ने जागरण से बातचीत में बताया कि सड़कों पर इतने गहरे गड्ढे बन चुके है कि यहां से छोटे वाहनों का निकलना काफी मुश्किल होता है। यहां आए दिन ई-रिक्शा, आटो व टू व्हीलर वाहन पलट जाते है। करवाया जाएगा पेचवर्क

नगर निगम के कमिश्नर आरके सिंह ने जागरण से बातचीत में बताया कि शहर में सड़कों के निर्माण के लिए टेंडर लगे हुए है और बारिश के कारण काम रूका हुआ था। अब जल्द ही सड़कों की हालात को सुधारा जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.