नशे में युवक ने घर में तोड़फोड़ कर लगाई आग, दो सिलेंडर फट, सात घायल

नशे में युवक ने घर में तोड़फोड़ कर लगाई आग, दो सिलेंडर फट, सात घायल
Publish Date:Thu, 29 Oct 2020 07:29 AM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, पानीपत: कच्चा कैंप पुरेवाल कालोनी में नशे में एक युवक ने बुधवार शाम को अपने घर में तोड़फोड़ की। बाइक, अलमारी, बेड और गद्दों में आग लगा दी। इसके बाद भी गुस्सा शांत नहीं हुआ तो रसोई से दो सिलेंडर लाकर आग लगे बेड पर डाल दिए। धमाके के साथ दो मिनट के बीच ही सिलेंडर फट गए। धमका इतना जबरदस्त था कि पड़ोसी का कमरा तहस-नहस हो गया और आवाज 200 मीटर दूर तक सुनाई दी।

इस हादसे में आरोपित सहित सात लोग घायल हो गए। पुलिस आरोपित को हिरासत में लेकर आग लगाने के कारण का पता लगा रही है।

घटना शाम करीब चार बजे की है।

दो साल पहले पुरेवाल कालोनी का संजीव (29) गुरुग्राम में एक काल सेंटर में काम करता था। नौ महीने से वह घर पर था और बेरोजगार था। शराब के नशे में संजीव ने अपने घर में मोबाइल और एलईडी तोड़ दी। मां मंजू ने रोकने का प्रयास किया। वे नहीं माना तो बेबस मां घर से बाहर निकल गई और पड़ोसियों से मदद मांगी। आरोपित ने बाहर निकलकर पड़ोसी के बाहर खड़ी अपनी बाइक की टंकी खोली और तिल्ली लगाकर आग लगा दी। पड़ोसियों में अफरा-तफरी मच गई। पड़ोसियों ने बाइक की आग को बुझाया। आरोपित को समझाकर घर के अंदर भेजा। आरोपित ने कमरे में रखी अलमारी, बेड और गद्दों में आग लगा दी। रसोईघर से दो सिलेंडर उठाकर जलते हुए बेड पर डाल दिए और खून से लथपथ कमरे से बाहर निकल गया। हादसे में आरोपित सहित सात लोग झुलस गए। पड़ोसन रजनी झुलस गई।

सिलेंडर फटने से खिड़की के कांच के शीशे टूट गए। धमाका इतना जबरदस्त था कि पड़ोसी के मकान का एक कमरा तहस-नहस हो गया। पड़ोसी डर की वजह से घरों से बाहर निकलकर गली में भागे। दमकल विभाग की तीन गाड़ियों ने डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

ये हुए घायल

इस हादसे में संजीव (29), किरायेदार शमा रानी (36), उसकी बेटी हितैषी (6) व मुस्कान (18), पड़ोसन रजनी (40), रजनी का बेटा योगेश (20) और पड़ोसी भीम सिंह (70) घायल हो गए। घायलों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें घर भेज दिया गया।

धुंआ देख हितैषी ने स्वजनों को सूचना दी, दौड़ कर बचाई जान

संजीव के मकान के प्रथम तल पर रहने वाले किरायेदार देशपाल की बेटी हितैषी ने घर में धुंआ देख स्वजनों जानकारी दी। वह बड़ी बहन मुस्कान, भाई विनय और मां शमा रानी के साथ सीढि़यों से नीचे उतर आई। मां और भाई तेजी से बाहर निकल गए। दोनों बहनें अभी सीढि़यों उतरी ही थी कि सिलेंडर फट गया। सिलेंडर फटने से बिखरे सामान और शीशे के टुकड़े लगने से दोनों बहनों को काफी चोटें आई। मां शमा ने उन्हें बाहर निकालने की कोशिश की तो वे भी चोटिल हो गई। लोगों ने तुरंत पुलिस, स्वास्थ्य और दमकल विभाग को सूचना दी।

पड़ोसी भीम हुआ चोटिल, पोते ने पहुंचाया अस्पताल

घर के बाहर शोरगुल सुनकर बुजुर्ग भीम सिंह कमरे से बाहर निकलकर आंगन में पहुंचा तो सिर में कांच का टुकड़ा लगा। लहूलुहान हो गया। हिम्मत नहीं हारी और घर से बाहर निकल गया। उन्हें भतीजे ने अस्पताल पहुंचाया।

परिवार घर से गया था बाहर, नहीं तो बड़ा हादसा हो जाता

पड़ोसी जतिन ने बताया कि धमाका होने के कारण उनके घर का पिछला कमरा पूरी तरह बर्बाद हो गया। दीवारों में दरार आ गई है, वहीं फर्निशिग पूरी तरह खराब हो गई। गनीमत रही कि मां सुशीला, पिता महेंद्र कुमार, भाई सन्नी और भाभी कल गांव चले गए थे। वर्ना अगर आज कमरे में कोई होता तो उसे काफी चोटें आ सकती थी। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से आरोपित युवक संजीव के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। घर पहुंचा तो लहुलूहान थी बेटियां, निकल रहा था धुंआ

किराएदार देशपाल ने बताया कि उसने लगभग 20 दिन पहले पांच हजार रुपये प्रतिमाह किराए पर कमरा लिया था। बुधवार को पत्नी और बच्चे घर पर थे। उसे बेटे ने फोन कर घर में आग लगने की सूचना दी। मौके पर पहुंचा तो लहूलुहान बेटी मुस्कान और हितैषी को स्वास्थ्यकर्मी एंबुलेंस में बैठा रहे थे। घर के ऊपरी हिस्से में धुंआ निकलता देख लगा कमरे में आग लगी है। फिर पड़ोसियों ने पूरे घटनाक्रम के बारे में जानकारी दी।

नौ महीने बेरोजगार है संजीव, इलाज चल रहा है

संजीव ने एएसआइ वीरेंद्र को बताया कि वह लगभग दो साल पहले संजीव गुरुग्राम के एक कॉल सेंटर में काम करता था। नौ माह पहले काम छूट गया था और इसके बाद से भाई जितेंद्र के साथ

पुरेवाल कालोनी में रहता है। वह परेशान था और उसने शराब पी ली। आरोपित के भाई जितेंद्र ने पुलिस को बताया कि संजीव कई दिनों से तनाव में है और उसका इलाज चल रहा है।

वर्जन

देशपाल ने शिकायत दी कि संजीव ने घर में आ लगा दी है। इससे उसके स्वजन चोटिल हो गए हैं और घर का सामान का सामान जल गया है। मामला दर्ज करके आरोपित से पूछताछ की जा रही है कि उसने घर में क्यों आग लगाई। घरेलू कलह था या फिर कोई और वजह थी।

सुनील कुमार, प्रभारी, थाना माडल टाउन

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.