दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

कोरोना की दूसरी लहर हर दिन हो रही घातक, पानीपत में 11 की मौत, 668 नए केस आए

पानीपत में कोरोना से 11 की मौत।

पानीपत में कोरेाना संक्रमण की दूसरी लहर घातक साबित हो रही है। हर रोज मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। हर दिन कोरोना संक्रमित मिलने के केस भी बढ़ रहे हैं। मंगलवार को कोरोना संक्रमित 11 की मौत हुई 668 केस मिले।

Anurag ShuklaWed, 05 May 2021 08:16 AM (IST)

पानीपत, जेएनएन। कोरोना की दूसरी लहर दिन-प्रतिदिन घातक होती जा रही है। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने 11 मरीजों के मरने की पुष्टि की है। मृतकों में सात पुरुष और चार महिलाएं शामिल हैं।668 नए मरीज मिले हैं। उधर, श्मशान घाट के आंकड़ों को देखें ताे 18 शवाें का अंतिम संस्कार कोविड गाइडलाइन के तहत किया गया है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

441 लोग रिकवर भी हुए हैं। सिविल सर्जन डा. संजीव ग्रोवर बताया कि मृतकों में अंसल सोसाइटी निवासी 48 वर्षीय पुरूष, राजाखेड़ी वासी 56 वर्षीया महिला, फ्रेंड्स कालोनी वासी 43 वर्षीय पुरूष, अटावला वासी महिला, नांगलखेड़ी की 18 वर्षीया युवती, हरिनगर वासी 65 वर्षीय पुरूष, टीडीआई वासी 43 वर्षीय पुरूष, शाहपुर वासी 41 वर्षीय पुरूष, न्यू फ्रेंड्स कालोनी वासी 27 वर्षीय युवक, जैन मुहल्ला निवासी 58 वर्षीय पुरुष और न्यू रमेशनगर वासी 81 वर्षीय बुजुर्ग हैं। दो की मौत सिविल अस्पताल में हुई है। मंगलवार को 1160 लोगों के स्वाब सैंपल लेकर लैब भेजे गए हैं।

सिविल सर्जन के मुताबिक पानीपत में कुल पॉजिटिव 23 हजार 137 केसों में से 5822 एक्टिव हैं। 16 हजार 704 रिकवर हो चुके हैं। 325 मरीज अपने बताए पते से लापता हैं। अभी तक 286 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

श्मशान में 18 शवों का अंतिम संस्कार

जनसेवा दल के सचिव चमन गुलाटी ने बताया कि मंगलवार को कोविड-19 गाइडलाइन के तहत 18 शवों का अंतिम संस्कार किया गया। मृतकों में 10 पानीपत, छह दिल्ली, एक मुरादाबाद उप्र. और एक जिला जींद का निवासी था।

एडवोकेट की रोहतक में मौत

देशराज कालोनी निवासी और जिला बार एसोसिएशन, पानीपत के सदस्य एडवोकेट मुकेश सैनी (42 वर्ष) की मौत रोहतक के एक निजी अस्पताल में हुई है। मृतक के चाचा एडवोकेट उमेद सैनी ने बताया कि मुकेश को दो-तीन दिन बुखार आया था। श्वास लेने में भी दिक्कत थी। सिविल अस्पताल पानीपत से सोमवार को निजी अस्पताल में लेकर गए थे,वहां मौत हो गई। मृत्यु कोरोना संक्रमण से हुई या नहीं, इसकी जानकारी नहीं मिली है। परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। 

अस्पताल में पहुंची एक टन ऑक्सीजन

सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड की क्षमता 60 बेड की है, 106 मरीज भर्ती हैं।नतीजा,रोजाना लगभग एक टन ऑक्सीजन की खपत हो रही है। मंगलवार को भी रिफाइनरी से एक टन ऑक्सीजन गैस अस्पताल के टैंक में रिफिल की गई। अस्पताल प्रशासन आइसोलेशन बेड संख्या बढ़ाने की तैयारी में है।

सीएचसी में कार्यरत फार्मासिस्ट की मौत

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मतलौडा में कार्यरत फार्मासिस्ट जसमेर सिंह की कोरोना से मौत हो गई। वहीं सीएचसी मतलौडा के अंतर्गत आने वाली पीएचसी रेरकलां के चिकित्सा अधिकारी डॉ. अनीश के पिता की भी कोरोना से मौत हो गई। सीएचसी मतलौडा के एसएमओ डॉ. नरेश राठी ने बताया कि फार्मासिस्ट जसमेर सिंह कई दिनों से बीमार थे। मतलौडा सीएचसी में कुल 25 स्वास्थय कर्मी हैं, जिनमें से 14 कोरोना पॉजिटिव हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.