फ्लिपकार्ट पर मंगाया ROKET, नहीं पहुंचा तो फोन मिलाया, खाते से कट गए 82 हजार

पानीपत में ठगी का मामला सामने आया है। सेक्टर 24 निवासी ठगी का शिकार हुआ। साइबर ठग ने पहले पांच रुपये खाते में डलवाए फिर दो बचत खातों से चार बार में रुपये निकाल लिए। पुलिस ने मामले में केस दर्ज कर लिया है।

Rajesh KumarTue, 07 Dec 2021 02:56 PM (IST)
पानीपत में आनलाइन शापिंग के नाम पर ठगी।

पानीपत, जागरण संवाददाता। अगर आप आनलाइन कुछ सामान मंगाते हैं तो हमेशा सतर्क रहें। गूगल पर नंबर सर्च करके अगर फोन मिलाएंगे तो ठग के पास भी फोन जा सकता है। यही ठग आपके खाते से रुपये निकाल सकते हैं। ऐसा ही हुआ है सेक्टर 24 के रहने वाले कृष्णनम के साथ। उनके साथ 82 हजार की ठगी हो गई। ये रुपये अलग-अलग बार में खाते से निकले हैं।

थाना चांदनी बाग पुलिस को दी शिकायत में कृष्णनम ने बताया कि उसका एसबीआइ और एक्सिस बैंक में बचत खाता है। उन्होंने कोरियल से फ्लिपकार्ट में राकेट (ROKET) मंगाया था। तय समय पर राकेट नहीं पहुंचा। तब उन्होंने किसी तरह नंबर की तलाश की। लेकिन उन्हें नहीं पता था कि ये नंबर ठग के पास चला जाएगा।

इस तरह ठगे रुपये

ठग ने कहा कि आप अपने अकाउंट से हमें पांच रुपये भेजो। तुरंत आपका सामान पहुंचा देंगे। उन्होंने अपने अकाउंट से पांच रुपये भेज दिए। ये रुपये उन्होंने एसबीआइ खाते से आनलाइन ट्रांसफर किए थे। इसके बाद उनके खाते से एक बार 49 हजार, 17 हजार और दो हजार रुपये कट गए। इसके बाद एक्सिस बैंक के खाते से भी 14 हजार रुपये निकल गए। इस तरह से उनके साथ 82 हजार रुपये ठगी हो गई। यह साइबर अपराध है।

गूगल सर्च से नंबर न निकालें

साइबर ठग इतने शातिर हो गए हैं कि उन्होंने अपने नंबर आनलाइन डाल दिए हैं। आम लोग जब सर्च करते हैं तो सबसे ऊपर उनके ही नंबर आते हैं। लोग जब इन नंबर पर काल करते हैं तो सीधे ठग से बात हो जाती है। वह लोगों के डेबिट और क्रेडिट कार्ड की जानकारी लेकर आपसे रुपये ठग लेता है। इनसे बचने के लिए ये जरूरी है कि आप इन्हें कोई जानकारी न दें। साथ ही किसी भी तरह के लिंक पर क्लिक न करें। इसके अलावा इनके खाते में रुपये न डालें।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.