बारिश ने दिलाई राहत, 27 लाख यूनिट तक घटी बिजली की खपत, खत्म हुई ओवरलोडिग की मार

पिछले तीन दिन से हो रही बारिश राहत दे रही है। बात चाहे बिजली निगम की हो किसान या आमजन की। बारिश के कारण मौसम सुहावना होने पर आमजन को गर्मी से छुटकारा मिला तो किसान की धान रोपाई में पानी संबंधित परेशानी दूर हो गई। वहीं बिजली खपत कम होने से निगम को भी ओवरलोडिग की मार से छुटकारा मिला है।

JagranWed, 21 Jul 2021 08:05 AM (IST)
बारिश ने दिलाई राहत, 27 लाख यूनिट तक घटी बिजली की खपत, खत्म हुई ओवरलोडिग की मार

जागरण संवाददाता, पानीपत : पिछले तीन दिन से हो रही बारिश राहत दे रही है। बात चाहे बिजली निगम की हो, किसान या आमजन की। बारिश के कारण मौसम सुहावना होने पर आमजन को गर्मी से छुटकारा मिला तो किसान की धान रोपाई में पानी संबंधित परेशानी दूर हो गई। वहीं बिजली खपत कम होने से निगम को भी ओवरलोडिग की मार से छुटकारा मिला है। हालांकि बारिश में लाइनों पर पानी गिरने व पेड़ों की टहनियों के टपकने के कारण फाल्ट जरूर आ रहे हैं। इससे अघोषित कट भी लग रहे हैं। मंगलवार शाम को 33 केवी धर्मगढ़ में किसी कारणवश ब्रेकडाउन रहा। वहीं आकड़ों की बात करें तो बारिश के चलते तीन दिन में करीब 27 लाख यूनिट प्रतिदिन खपत में कमी आई है। डेढ़ करोड़ तक जा पहुंची थी बिजली खपत

जुलाई माह की शुरुआत में गर्मी कहर बरपा रही थी। लगातार बढ़ते पारे के बीच लोग बचने के लिए एसी व कूलर का प्रयोग कर रहे थे। ऐसे में बिजली की खपत भी दिनों दिन बढ़ रही थी। 10 जुलाई को पानीपत सर्कल में बिजली खपत का आंकड़ा 1.49 करोड़ यूनिट तक जा पहुंचा था। जैसे ही 14 जुलाई से बारिश होने की शुरुआत हुई तो बिजली की खपत में दिन प्रतिदिन कमी आने लगी। हाल में आंकड़ा एक करोड़ से नीचे आ पहुंचा है। कृषि फीडर पर भी घटी खपत

हाल में धान रोपाई का काम चल रहा है। बारिश न होने पर किसानों को धान रोपाई के काम से लेकर सिचाई में परेशानी आ रही थी। ऐसे में बिजली की खपत भी एपी (कृषि) फीडर पर इंडस्ट्री के बाद सबसे ज्यादा हो रही थी। लेकिन पिछले कई दिनों से हो रही बारिश ने किसानों को काफी फायदा पहुंचाया है। धान की सिचाई व रोपाई में कम पानी लग रहा है। उक्त फीडर पर पहले जहां 35 लाख यूनिट से ऊपर प्रतिदिन बिजली खपत हो रही थी। वहीं बारिश के बाद अब ये घटकर 15 लाख से नीचे आ गई है। हालांकि बारिश के कारण फीडर ब्रेकडाउन से परेशानी जरूर हो रही है।

कम हुई है खपत

सब अर्बन सब डिविजन के एसडीओ रमेश खटकड़ ने दैनिक जागरण को बताया कि बारिश से बिजली खपत में काफी कमी आई है। खासकर कृषि फीडर पर खपत बहुत कम हो गई है। इससे पहले हर फीडर ओवरलोड चल रहा था। किस दिन कितनी यूनिट बिजली की हुई खपत --

तिथि -- बिजली खपत

15 जुलाई -- 95.07 लाख

16 जुलाई -- 1.02 करोड़

17 जुलाई -- 1.23 करोड़

18 जुलाई -- 1.23 करोड़

19 जुलाई -- 96.39 लाख 19 जुलाई को किस क्षेत्र में कितनी बिजली खपत --

फीडर बिजली खपत (यूनिट)

एपी (कृषि) -- 13.09 लाख

डीएस -- 17.86 लाख

इंडस्ट्री -- 35.85 लाख

अर्बन -- 29.49 लाख

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.