Fraud: जींद में यूरोप भेजने के नाम पर लिए 4.13 लाख रुपये, भेज दिया रशिया

जींद में एक किसान से ठगी का मामला सामने आया है। बदमाशों ने यूरोप भेजने के नाम पर किसान से करीब 4 लाख रुपये ठग लिए। पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

Rajesh KumarSun, 28 Nov 2021 12:07 PM (IST)
जींद में यूरोप भेजने के नाम पर धोखाधड़ी।

जींद, जागरण संवाददाता। जींद में विदेश भेजने के नाम पर धोखाधड़ी कर 4.13 लाख रुपये की ठगी करने के आरोप में अलेवा थाना पुलिस ने कैथल जिले के गांव ढांड निवासी महाबीर, उसके सहभागी समीर सिद्दीकी समेत तीन के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। गृह मंत्री अनिल विज के नाम दी शिकायत में डाहाैला गांव निवासी प्रवीण ने बताया कि कोरोना काल के दौरान जब सारे काम धंधे मंदे पड़े थे। उस दौरान ढांड गांव के महावीर ने उसे काम-धधा बंद होने के कारण विदेश भेजने के जाल में फंसाया और भविष्य के सुनहरे सपने दिखाते हुए ठगी का शिकार बनाया। महावीर ने व्हाट्सएप और मोबाइल से काल कर उससे संपर्क किया और खुद यूरोप में बसा होने का वादा करके उसे भी यूरोप आने का लालच दिया। एक सीधा-सादा किसान होने और ज्यादा पढ़ा-लिखा ना होने के कारण उसके जाल में फंसता चला गया।

ऐसे शुरू हुआ ठगी का खेल

उसने मुझसे पहले 25-25 हजार रुपये की तीन किस्त यानि की कुल 75 हजार रुपये मंगवाए। ये पैसे उसने अपने परिचित गांव के ही मनोज कुमार के बैंक खाते के माध्यम से 26 अक्टूबर 2020 को महाबीर के भाई सोनू के बैंक खाते में डलवा दिए। उसके बाद दो नवंबर 2020 को 125000 रुपये दोबारा सोनू के खाते में डलवा दिए। इसके बाद महाबीर ने उसे अपने गांव ढांड में बुलवा कर इस साल 14 मार्च को 163000 रुपये नगद लिए। महाबीर ने नौ अप्रैल को उसे यूरोप भेजने की बजाय दुबई भेजा और वहां से 29 अप्रैल को को रशिया भेजा गया। जहां उसके साथ महाबीर ने अपने सहभागी समीर सिद्दीकी हाल आबाद दिल्ली को भेजा। रशिया पहुंचते ही महावीर के कहने पर 50 हजार रुपये समीर सिद्दीकी को दिए। रुपये मिलते ही महाबीर व समीर ने उसका साथ छोड दिया और रशिया मे लावारिस अपने हाल पर छोड़ कर महाबीर का सहभागी समीर सिद्दीकी गायब हो गया। इसके बाद उससे उन दोनों ने संपर्क नहीं किया और ना ही उसके फोन काल रिसीव किया।

पुलिस ने दर्ज किया मामला

रशिया में कोई काम धंधा भी नहीं दिलवाया गया। वहां उसके पास रहने का कोई ठिकाना नहीं था। एक माह इधर-उधर भटकता रहा। उसके बाद घर से पैसे मंगवा कर तीन जून को वापस घर पहुंचा। महाबीर और समीर सिद्दीकी ने उससे कुल 4.13 लाख रुपये की ठगी की है। वह गरीब किसान है और यूरोप जाने के झांसे में आकर सारा पैसा ब्याज पर उठाया था। पुलिस ने इस मामले में महाबीर, उसके भाई सोनू और सहभागी समीर सिद्दीकी के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.