करनाल में पुलिस पर भीड़ ने कर दिया हमला, मोबाइल तोड़े, रिवॉल्वर छीनने की कोशिश, आरोपित को छुड़ाया

करनाल के इंद्री का मामला। माइनिंग विभाग की टीम से मारपीट व छीनाझपटी के आरोपित को पकड़ने पुलिस गई थी। आरोपित के परिवार वालों ने अचानक हमला कर दिया। मारपीट की टीम के मोबाइल तोड़ दिए। रिवॉल्वर छीनने की भी कोशिश की।

Umesh KdhyaniThu, 29 Jul 2021 09:15 PM (IST)
आरोपित ने 9 अगस्त 2020 को माइनिंग टीम के साथ हाथापाई की थी।

संवाद सहयोगी, इंद्री (करनाल)। माइनिंग विभाग की टीम के साथ करीब एक साल पहले मारपीट व छीनाझपटी करने के मामले के गिरफ्तार किए गए एक आरोपित को राज्य अपराध शाखा मधुबन की टीम पर स्वजनों व अन्य लोगों ने हमला कर छुड़ा लिया। पुलिस टीम सदस्यों के मोबाइल तोड़ दिए तो रिवाल्वर छीनने की भी कोशिश की। हमले के चलते टीम को बैरंग लौटना पड़ा। फिलहाल इंद्री थाना पुलिस ने 9 नामजद सहित 14 आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

राज्य अपराध शाखा में तैनात एसआइ रूपचंद ने बताया कि 9 अगस्त 2020 को इंद्री थाना में माइनिंग विभाग की टीम अवैध खनन पर अंकुश लगाने के लिए गश्त कर रही थी। तभी रेत से भरे एक ट्रैक्टर-ट्राली को काबू किया तो कुछ लोगाें ने टीम पर हमला कर इसे छुड़ा लिया था। इस संबंध में अन्य आरोपितों के साथ-साथ नंदी खालसा वासी अनवर भी आरोपित था। वीरवार देर रात को वे  इएचसी पवन कुमार, इएचसी अनिल कुमार आदि की टीम को लेकर अनवर को गिरफ्तार करने उसके घर पर पहुंचे।

पुलिस टीम पर बरसाए पत्थर

टीम को देख अनवर पहले तो घर में रखे संदूक के नीचे छिप गया। उसे टीम ने काबू कर लिया। जब उसे लेकर गली में खड़ी गाड़ी में सवार होने के लिए जाने लगे तो उन्हें उसके स्वजनों व अन्य लोगों ने घेर लिया। उन पर ईंटों आदि से हमला कर दिया तो वहीं अनवर ने भी टीम सदस्यों पर हमला किया। आरोपितों ने उनकी रिवाल्वर छीनने की कोशिश की तो दो मोबाइल भी तोड़ दिए और अनवर को छुड़ा ले गए।

डायल 112 पर दी सूचना, गायब हो गए आरोपित

उन पर शराब फेंक कर नशे में होने के आरोप लगाने का भी प्रयास किया। हमले के बाद टीम दहशत में आ गई और वारदात की सूचना डायल 112 पर सूचना दी गई। इसके बाद थाना इंद्री एसएचओ भी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। लेकिन तब तक सभी आरोपित फरार हो चुके थे। बाद में चोटिल हुए पुलिसकर्मियों ने अस्प्ताल जाकर उपचार कराया। 

इन आरोपितों पर दर्ज किया मामला

इंद्री थाना पुलिस ने एसआई रूप चंद की शिकायत पर आरोपित साहिल, मीना, अनवर, असगरी उर्फ अनवरी, शबिया उर्फ शव्वो, आईशा, सम्मी, उसमान, मुस्कान व चार से पांच अन्य आरोपितों के खिलाफ भी सरकारी ड्यूटी में बाधा डालने, आरोपित को छुड़ाने, पुलिस टीम पर हमला करने सहित अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एसएचओ सचिन का कहना है कि मामले की जांच व आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.