top menutop menutop menu

कोरोना के साथ हीट स्ट्रोक का खतरा, प्रशासन ने हीट वेव से बचाव के दिए निर्देश

पानीपत, जेएनएन। पारा 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास और लू (गर्म हवा) के थपेड़े। ऐसे में आप हीट स्ट्रोक का शिकार हो सकते हैं। कोरोना वायरस संक्रमण का डर तो पहले से है, अब इस खतरे से भी खुद को बचाना होगा। लापरवाही बरती तो शरीर में पानी की कमी से उल्टी-दस्त, बेहोशी के शिकार हो सकते हैं। इसके अलावा खसरा, स्कैबिज, चेचक, लाल रंग के चकते और टायफाइड भी हो सकता है। 

सिविल अस्पताल के सीनियर कंसल्टेंट डा. जितेंद्र त्यागी ने बताया कि मेडिसिन ओपीडी में रोजाना तकरीबन 250 लोग इलाज के लिए पहुंचते हैं। गनीमत है कि अभी तक हीट स्ट्रोक का कोई ऐसा मरीज नहीं आया, जिसे भर्ती करना पड़ा हो। जिस तरह से तापमान बढ़ रहा है, लू भी चलने लगी है। इससे डायरिया, टायफाइड और त्वचा संबंधित रोगों के मरीज बढेंगे। इलाज से पहले बचाव की जरूरत है। तेज धूप में बाहर न निकलें तो बेहतर है।जरूरी काम से कहीं जाना है तो धूप से बचाव के उपाय करें।

डा. त्यागी के मुताबिक धूम्रपान, मदिरापान, तैलीय खाद्य पदार्थों का सेवन कम या बिल्कुल त्यागना पड़ेगा। खूब पानी पिएं ताकि शरीर में कमी न रहे। 

इन्हें रखना होगा खास ख्याल

हीट स्ट्रोक गर्भवती महिलाओं को भी जल्द चपेट में लेता है। दोपहिया वाहन चालकों, पैदल चलने वाले, ईंट भट्टों व  कंस्ट्रक्शन साइटों पर काम कर रहे मजदूरों और धूप में खेलने वाले बच्चों को अधिक सावधान रहना होगा। तेज सिरदर्द, बुखार, उल्टी, पसीना व चक्कर आना, नब्ज असामान्य होना हीट स्ट्रोक के प्रारंभित लक्षण हैं। 

ऐसे करें अपना बचाव 

-घर से बाहर निकलने के पहले भरपेट पानी पिएं। 

-सूती, ढीले एवं आरामदायक कपड़े पहनें।

-धूप से बचाव के लिए सिर पर कैप पहनें, छाता का उपयोग करें।

-छाछ, ओआरएस घोल, लस्सी, नीबू पानी, आमरस पिएं। 

-घर में बना ताजा भोजन खाएं, भूखा न रहें। 

-तेज मिर्च मसाले युक्त एवं बासी भोजन न खाएं।

-बाजार में बिक रहे कटे फल बिल्कुल न खाएं। 

-बुखार आने पर माथे पर ठंडे पानी की पट्टियां रखें।

44.2 डिग्री पर तप गया शहर

शहर लू की गिरफ्त में है। अधिकतम तापमान 44 डिग्री पार कर चुका है। रविवार का दिन सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। मौसम विभाग के अनुसार 27 मई तक भीषण गर्मी से राहत की उम्मीद नहीं है। गर्मी के तेवर 25 मई को और अधिक तीखे हो सकते हैं। हीटवेव से बचने के लिए प्रशासन ने दिशा निर्देश जारी किए हैं। मौसम विभाग ने ऑरेंज अलर्ट जारी कर दिया है। न्यूनतम तापमान भी 28 डिग्री तक पहुंच गया है। देर शाम आठ बजे तक भी गर्म हवा चलती है।

एसी, कूलर की मांग बढ़ी

अधिक गर्मी होने के कारण एसी व कूलर का सीजन पीक पर पहुंच गया है। दुकानें बंद होने के बावजूद भी शहर में एसी, कूलर ठीक करने वले कारीगरों की मांग बढ़ गई है। 

25 मई और अधिक तीखे तेवर 

मौसम विभाग के अनुसार 25 मई से गर्मी के और अधिक तेवर देखने को मिला। तापमान 45 डिग्री रहा। 28 मई को ईस्ट से नमी भरी ठंडी हवा चलने से मौसम में बदलाव होने की संभावना है। 

जरूरत की चीजों की उपलब्धता करवाए विभाग : डीसी 

तेज गर्मी व हीटवेव से बचाव के लिए डीसी ने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। डीसी धर्मेंद्र सिंह ने तेज गर्मी व हीटवेव से बचाव के लिए आमजन की सुविधाओं के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे सुनिश्चत करें कि किस चीज की आपूर्ति कितनी और कहां करनी है। पब्लिक हेल्थ को पीने के पानी का प्रबंध करने के लिए, सिंचाई  विभाग, पशु पालन विभाग, विकास एंव पंचायत विभाग को अन्य कार्यों को निर्देश दिए गए हैं। 

हीटवेव से बच्चों को बचाएं

डीसी ने आमजन से आग्रह किया है कि इस मौसम में बच्चों का विशेष ध्यान रखें। हीटवेव से तनाव हो सकता है। यहां तक की जान को खतरा हो सकता है। नगरिक दोपहर को घरों से बाहर न निकले। सीधे सूर्य की किरणो के संपर्क में न आएं। टोपी, छत्तरी, और अपने सिर, गर्दन, चेहरे के लिए एक नम कपड़े का उपयोग करें। घर में बने ठंडे पेय पदार्थ प्रयोग करें। चक्कर आदि आए तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें। बार-बार हाथ धोंए, पानी न मिलने पर सैनिटाइज करें।

यह भी पढ़ें : पानीपत और कुरुक्षेत्र में 1-1 नए कोरोना पॉजिटिव केस

 

 

यह भी पढ़ें : गर्मी से राहत पाने के लिए कर डाला दोस्त का कत्ल, मौत से बेखबर सो गया शव के पास

 

 

यह भी पढ़ें : रेड अलर्ट, दो दिन भीषण गर्मी, 29 से मिल सकती है राहत

 

 

यह भी पढ़ें : जींद में एक महिला कोरोना पॉजिटिव, इधर सैंपल देने के बाद दिल्‍ली गया घूमता रहा संक्रमित

 

 

यह भी पढ़ें : पटाखा फैक्ट्री में लगी आग, धमाका, श्रमिक की मौत, 10 साल का बच्‍चा झुलसा



 

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें  

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.