Panipat Coronavirus Update: पानीपत में नए संक्रमित कम, ठीक होने वाले ज्‍यादा, 59 मिले कोरोना मरीज, 161 हुए ठीक

पानीपत में बीते दो दिनों से कोरोना केस बाकी दिनों में तुलना में कम मिल रहे हैं
Publish Date:Tue, 29 Sep 2020 07:30 AM (IST) Author: Manoj Kumar

पानीपत, जेएनएन। पानीपत में कोरोना संक्रमण को 161 लोगों ने हरा दिया। सोमवार को 59 नए मरीज मिले हैं। इनमें समालखा के गांव किवाना वासी 95 साल के बुजुर्ग, बिशन स्वरूप कॉलोनी स्थित निजी अस्पताल के दो कर्मचारी शामिल हैं। सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमितों की घटती संख्या सुखद है। सोमवार को मिले संक्रमितों में सेक्टर-11 वासी एक परिवार के दो सदस्य, गांव महराना में पिता-पुत्री संक्रमित हैं। महादेव कॉलोनी में 30 साल की महिला व उसके दो बच्चे पॉजिटिव हैं।

मॉडल टाउन, संजय कॉलोनी, खोजकीपुर, सेक्टर 13-17, फ्रेंड्स कॉलोनी, रिफाइनरी, चुलकाना, बापौली, राजीव कॉलोनी, थर्मल कॉलोनी, सेक्टर 18, जौरासी, सौदापुर, मछरौली आदि स्थानों पर भी नए मरीज मिले हैं।

सिविल सर्जन के मुताबिक सोमवार को 1136 लोगों के सैंपल लिए गए हैं। जिले में कुल 7292 पॉजिटिव केसों में से 6355 स्वस्थ हो चुके हैं। 756 एक्टिव, 95 मरीज लापता हैं। अब तक जिला में कुल 86 मरीजों की मौत हो चुकी है।

सिविल अस्पताल में शारीरिक दूरी का नहीं ध्यान

सिविल अस्पताल के ओपीडी ब्लॉक, रेडियोलॉजी ब्लॉक में इलाज के लिए पहुंच रहे मरीज-तीमारदार दो गज की शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं। सोमवार को मेडिसिन ओपीडी के बाहर मरीजों की लंबी कतार थी। मरीज एक-दूसरे से सटकर खड़े हुए थे। कॉमन सर्विस सेंटर में भी ऐसे ही हालात दिखे।

सिविल अस्पताल को मिले फिजिशियन :

मरीजों के लिए अच्छी खबर है। सिविल अस्पताल में फिजिशियन डा. बीरेंद्र नाथ ने ज्वाइन किया है। करीब तीन साल बाद अस्पताल को फिजिशियन मिले हैं। हालांकि, उन्हें दो माह के डेप्यूटेशन पर करनाल से यहां भेजा गया है। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. आलोक जैन ने बताया कि स्थायी नियुक्ति के लिए भी डिमांड भेजी हुई है।

कोविड लैब के रजिस्ट्रेशन की देर :

सिविल अस्पताल की कोविड लैब लगभग तैयार है। सोमवार को उम्मीद थी कि प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज से ऑनलाइन शुभारंभ करेंगे। आरटीपीसीआर (रियल टाइम पॉलिमिनरी चेन रिएक्शन) टेस्ट शुरू हो जाएंगे, लेकिन हो नहीं सके। माइक्रोबॉयोलॉजिस्ट डा. श्याम लाल महाजन ने बताया कि लैब का रजिस्ट्रेशन होना बाकी है ताकि पोर्टल पर रिपोर्ट आनलाइन भेज सकें। एक-दो दिन में लैब रङ्क्षनग में आ जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.