top menutop menutop menu

टोल बढ़ेगा, कंपनी कमाएगी.पब्लिक जाम झेलेगी

जागरण संवाददाता, पानीपत : कोरोना संकट में एक तरह आमदनी घटी है, दूसरी तरफ पानीपत टोल प्लाजा पर टैक्स बढ़ाया जा रहा है। 17 जुलाई से कार, बस और ट्रक सहित सभी वाहनों पर पांच रुपये से ज्यादा टोल लेना शुरू हो जाएगा। हालांकि मंथली पास बनवाने वाले वाहन चालकों को थोड़ी राहत मिलेगी। टैक्स में इजाफा नहीं किया।

रोजाना पानीपत टोल प्लाजा से लगभग 30 हजार वाहन गुजर रहे हैं। इन वाहनों में कार और गुड्स कैरियर वाहनों की तादाद सबसे अधिक है। जागरण टीम ने टोल प्लाजा का सर्वे किया तो पानीपत-करनाल लेन से रविवार दोपहर 2:40 बजे एक मिनट में 11 कार और तीन कॉमर्शियल वाहनों ने टोल प्लाजा क्रॉस किया। दूसरी तरफ पानीपत-दिल्ली लेन से जहां सात कार क्रॉस हुई। वहीं दो कॉमर्शियल चालक वाहनों में गंतव्यों की ओर रवाना हुए। पानीपत टोल प्लाजा से औसतन हर घंटे एक हजार से अधिक कारें और 350 से अधिक बस और अन्य कॉमर्शियल वाहन क्रॉस हो रहे हैं।

1.50 लाख बढ़ी कमाई, शहरवासियों को सुविधा नहीं

नए टोल रेट लागू कर एलएंडटी कंपनी अपनी दैनिक कमाई में औसतन 1.50 लाख रुपये की बढ़ोतरी करने वाली है। इस कमाई में शहरवासियों की भी कुछ फीसद हिस्सेदारी रहेगी। टोल भुगतान करने के बावजूद भी शहरवासियों को ओवरब्रिज से कोई फायदा नहीं हो रहा है। अधिकतर लोकल चालक आज भी शहर से बाहर जाने के लिए जीटी रोड का ही इस्तेमाल करते है।

टोल प्लाजा हटाने और कट खोलने के सपने अधूरे

नेता अक्सर पानीपत टोल प्लाजा हटवाने और कट खुलवाने के वादे करते हैं। कांग्रेस और भाजपा सरकार, दोनों में ही ये वादा पूरा होता नहीं दिख रहा। दूसरी तरफ टैक्स जरूर बढ़ रहा है। वहीं, फ्लाईओवर ही आज शहर में जाम का सबब बन चुका है। सेक्टर 18 कट बंद करवाने तक की कोशिश हो चुकी है।

---------------------

वाहन पहले रेट अब रेट

कार, जीप और वेन 30 35

हल्के कॉमर्शियल वाहन 45 50

बस और ट्रक 95 100

हेवी व्हिकल 95 100।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.