International Yoga Day 2021: न कोई योग सीखने वाला, न नोडल अधिकारी आए, कुरुक्षेत्र में किसानों को खेतों से बुलाकर कराया योग

कुरुक्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस प्रशिक्षण के नाम पर लीपापोती नजर आई। तीन दिवसीय प्रशिक्षण का शुक्रवार को पहला दिन था। इस्माइलाबाद की तीन व्यायामशालाओं में कुछ ऐसे हालात नजर आए। योग प्रशिक्षकों ने मामला आला अधिकारियों तक पहुंचाया।

Umesh KdhyaniFri, 18 Jun 2021 07:41 PM (IST)
प्रशिक्षण शुक्रवार को शुरू होना था। सफाई तक नहीं की गई थी। आनन-फानन में झाड़ियों को हटवाया गया।

कुरुक्षेत्र/इस्माइलाबाद [दीपक शर्मा]। न मैट, न सफाई, न कोई योग सीखने वाला और न ही आए नोडल अधिकारी। यह हालत इस्माइलाबाद खंड की तीन व्यायामशालाओं में योग प्रोटोकाल के अनुसार अभ्यास के पहले दिन देखने को मिली। मौके पर योग प्रशिक्षक यह देख कर झेंप गए और मामला आला अधिकारियों तक पहुंचाया गया।

तीनों गांवों के लोगों ने कहा कि उनके पास कोई सूचना तक नहीं है। ऐसी हालत से सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को मनाने के लिए सरकारी अधिकारी किस कद्र संजीदा है। पहले दिन की क्लास सवेेरे सात बजे से पौने आठ बजे तक थी। ऐसी हालत में योग प्रशिक्षक ने अपनी ड्यूटी पूरी करते हुए आसपास के खेतों से पांच-छह किसान बुलाए और उन्हें योग दिवस का महत्व बताया।

बड़े पैमाने पर जारी है योग दिवस की तैयारी

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को मनाया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश सरकार की ओर से बड़े पैमाने पर तैयारियां की जा रही हैं। इसी संदर्भ में तीन दिन का योग अभ्यास शिविर रखा गया है। जिसका शुक्रवार को पहला दिन था। खंड के भूस्थला, शांति नगर और तंगौली गांव में स्थित तीन व्यायामशालाओं में अभ्यास के पहले दिन सभी तैयारियां तार तार नजर आई। भूस्थला में पहुंचे योग प्रशिक्षक को मौके पर कोई नहीं मिला। नोडल अधिकारी तक नहीं पहुंचे। मैदान में सफाई का प्रबंध नहीं था।

तस्वीर देखकर भी रह जाएंगे हैरान

शांति नगर गांव की व्यायामशाला में तो ताला ही लटका मिला। यहां तो अभ्यास के सभी प्रबंध गौण ही होकर रह गए। नोडल अधिकारी ने कॉल रिसीव ही नहीं की। योग प्रशिक्षक ने आसपास के सात लोगों को बुलाया और गांव के सरकारी स्कूल में क्लास लगाई। गांव तंगौली की व्यायामशाला में तमाम कायदे ही तार तार हो गए। व्यायामशाला में झाड़ उगे खड़े थे। मौके पर कोई प्रबंध नहीं था। जब ऐसी हालत से प्रशासन को अवगत कराया गया तो दोपहर में मजदूर लगाए गए।

सफाई का कार्य आज ही शुरू किया गया और आज ही योग प्रोटोकॉल अभ्यास का पहला दिन था ।

तीनों गांवों में यह एक बात रही समान

तीनों गांवोंं में एक बात समान रही कि गांव के लोगों को योग दिवस और योगाभ्यास क्लास की कोई जानकारी नहीं थी। पंतजलि के वरिष्ठ योग प्रशिक्षक महेंद्र कैंथला ने बताया कि इस कद्र लापरवाही का कतई अंदाजा नहीं था। इससे गहरी ठेस लगी है, जबकि यह अति महत्वपूर्ण दिवस है। ऐसे में तैयारियों का सहज अंदाजा लगाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इस बाबत आला अधिकारियों को अवगत करवा दिया गया है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.