Mathematics Park In Karnal: छात्रों की पढ़ाई में रुचि बढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग के नई पहल, स्कूलों में बनेंगे गणित पार्क

करनाल में स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत गणित पार्क बनाए जाएंगे। शहर में ऐसे में शिक्षा विभाग की ओर से अब विद्यार्थियों को सहज ढंग से गणित के जटिल फार्मूले समझाने की खातिर रचनात्मक पहल की जा रही है।

Naveen DalalSat, 18 Sep 2021 02:37 PM (IST)
करनाल में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत बनेंगे गणित पार्क।

करनाल, जागरण संवाददाता। पूरे कोरोना काल में स्कूल कालेजों की पढ़ाई सबसे अधिक बाधित हुई। इसका सीधा असर छात्र छात्राओं के बौद्धिक विकास पर पड़ा। ऐसे में शिक्षा विभाग की ओर से अब विद्यार्थियों को सहज ढंग से गणित के जटिल फार्मूले समझाने की खातिर रचनात्मक पहल की जा रही है। इसके तहत शहर के विभिन्न क्षेत्रों में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की मदद से खास तरह के गणित पार्क बनाए जाएंगे। आरंभिक चरण में स्थानों का चयन कर लिया गया है।

 स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत गणित पार्क बनाए जाएंगे

शहर में रेलवे रोड स्थित लड़के व लड़कियों के सरकारी स्कूलों की तर्ज पर अब अन्य क्षेत्रों में इस परियोजना को अमली जामा पहनाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए फिलहाल माडल टाऊन, सेक्टर-13, सेक्टर-6 के कम्युनिटी सेंटर और उचाना गांव के स्कूल का चयन किया गया है। इन सभी जगह स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत गणित पार्क बनाए जाएंगे।

दरअसल, कोरोना काल में बच्चे ठीक प्रकार से पढ़ाई लिखाई नहीं कर सके। आनलाइन प्रक्रिया भी इस गतिरोध को दूर करने में खास कारगर साबित नहीं हुई। ऐसे में शिक्षा विभाग की ओर से यह निष्कर्ष निकाला गया कि कहीं न कहीं बच्चों को सीधे तौर पर व्यवहारिक ढंग से अलग अलग विषयों का ज्ञान देना नितांत आवश्यक है। इसी सोच के साथ गणित पार्क तैयार करने की परिकल्पना को चरणबद्ध ढंग से अमली जामा पहनाया जा रहा है। अधिकारियों का मानना है कि इस प्रक्रिया की मदद से अब समग्र शिक्षा अभियान के तहत पहली से आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र छात्राएं गणित के जटिल से जटिल फार्मूले भी अपेक्षाकृत कहीं अधिक सहजता से समझ जाएंगे।

आकृतियों से मिलता सहज ज्ञान

करनाल में यह पहल राजकीय माध्यमिक वरिष्ठ विद्यालय से हुई थी। यहां कुछ वर्ष पूर्व गणित पार्क बनाया गया था। करीब 80 फुट लंबे और 50 फुट चौड़े इस पार्क में गणित की विविध प्रकार की आकृतियों और अन्य प्रकार की विशेषताओं को बखूबी रेखांकित किया गया है। इनमें जमा, घटा, भाग, षटभुज, चतुर्भुज, समानांतर चतुर्भुज, पंचभुज, वर्ग आयत, वृत, घन, शंकु, बिंब, पैरामीटर, पायथागोरस का सिद्धांत और पाई के माडल तक शामिल हैं। इसी प्रक्रिया को आगे बढ़ाते हुए अन्य क्षेत्रों में भी ये गणित पार्क बनाए जा रहे हैं।

ये स्कूल प्रोजेक्ट में शामिल

राजकीय माध्यमिक वरिष्ठ ब्वायज स्कूल करनाल, राजकीय माडल संस्कृत सीनियर सेकेंडरी स्कूल तरावड़ी, राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल दरड़, राजकीय सीनियर सेकेंडरी बजीदा जटान, राजकीय गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल करनाल, राजकीय गर्ल्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल प्रेमनगर, राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल कैमला, राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल जुंडला, राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल गोंदर और राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल असंध।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.