एमपीएचडब्ल्यू टूटे, हड़ताल खत्म कर 111 ड्यूटी पर लौटे

जागरण संवाददाता, पानीपत : बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन, हरियाणा के आह्वान पर 27 अगस्त से हड़ताल कर रहे कर्मचारियों में आपसी फूट के कारण मंगलवार को हड़ताल खत्म हो गई। सरकार की बेरुखी, एस्मा एक्ट और गिरफ्तारी का खौफ, नौकरी जाने के डर से 132 में से 111 ने ड्यूटी ज्वाइन करने के लिए सिविल सर्जन के नाम पत्र लिख दिया। एसोसिएशन के जिला प्रधान सहित अन्य कर्मचारियों ने भी बुधवार को ज्वाइन करने का मन बना लिया है।

गौरतलब है कि सात सूत्रीय मांगों को लेकर बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी और एएनएम 17 दिन से हड़ताल पर थे। इनमें करीब 40 स्थायी एएनएम भी शामिल थी। इसके चलते बच्चों का नियमित टीकाकरण, टीबी के मरीजों और गर्भवती महिलाओं की मॉनिट¨रग, घर-घर मच्छर का लार्वा चे¨कग, बुखार पीड़ितों के ब्लड की स्लाइड बनाना और पेयजल में क्लोरीन की मात्रा जांचना जैसी कई सुविधाएं ठप पड़ी हुई हैं। इतना ही नहीं नवजात को जन्म के बाद 24 घंटे के अंदर लगने वाला हेपेटाइटिस बी का अनिवार्य टीका भी नहीं लगाया जा रहा है। सरकार ने 31 अगस्त को एस्मा एक्ट लगा दिया था। कार्यवाहक सिविल सर्जन डॉ. नवीन सुनेजा ने 100 नामजद सहित 173 के खिलाफ सिटी थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। 33 कर्मचारियों को गिरफ्तार भी किया गया था। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, हरियाणा की डायरेक्टर अमनीत पी. कुमार ने 32 एएनएम बर्खास्त भी किया था।

डॉ. नवीन सुनेजा ने बताया कि 11 मेल और 9 फीमेल वर्कर मंगलवार को भी हड़ताल पर रहे। सभी के नाम उच्चाधिकारियों को भेज दिए हैं। उम्मीद है ये सभी बुधवार को ड्यूटी ज्वाइन कर लेंगे और चिकित्सा व्यवस्था पटरी पर लौट आएगी।

-----

सेलरी कटने का डर

बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन, हरियाणा के आह्वान पर हड़ताल पर रहे कर्मचारियों को अब अनपुस्थिति के दिनों की सेलरी कटने का डर सता रहा है। कर्मचारी नेता विभाग के उच्चाधिकारियों से संपर्क कर, इस समस्या का समाधान की अपील कर रहे हैं। उधर, विभाग ने कर्मचारियों ने ड्यूटी जॉइन करने संबंधी प्रार्थना पत्र की चार प्रतिलिपि मांगी हैं। पत्र की प्रतिलिपि मुख्यालय, सिविल सर्जन कार्यालय, एसएमओ और एमओ के यहां रिसीव कराने होंगे।

-------

वर्जन :

हमारी मांगों पर 2015 में सहमति बनी थी, सरकार ने नोटिफिकेशन जारी नहीं किया। सोलह-सत्रह दिन की हड़ताल से भी सरकार की नींद नहीं टूटी। एस्मा लगा दिया, गिरफ्तारी और नौकरी जाने का डर था। इन परिस्थितियों में कर्मचारियों में फूट पड़नी तय थी। बाकी कर्मचारी भी बुधवार को ड्यूटी जॉइन करेंगे।

सतबीर ¨सह, जिला प्रधान-बहु उद्देश्यीय स्वास्थ्य कर्मचारी एसोसिएशन, हरियाणा ---------

18 को जेल भरो आंदोलन :

ऑल हरियाणा पावर कारपोरेशन वर्कर यूनियन, सिटी यूनिट पानीपत के प्रधान जितेंद्र सैनी और सर्कल सचिव ईश्वर शर्मा ने साझा बयान में कहा कि 18 सितंबर को जेल भरो आंदोलन होगा। एस्मा के तहत रोडवेज और स्वास्थ विभाग के कर्मचारियों के उत्पीड़न का विरोध किया जाएगा। हाई कोर्ट के निर्णय से प्रभावित कर्मचारियों की नौकरी बचाने और कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की मांग सरकार से की जाएगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.