Looteri Dulhan: करनाल की शातिर लुटेरी दुल्हन, जेवरात लेकर हो जाती थी फरार, ऐसे देती थी वारदात को अंजाम

करनाल में शादी की आड़ में लोगों को ठगी का शिकार बनाया जाने का मामला सामने आया है। जिसके चलते फर्जी दुल्हन शादी के अगले ही दिन मौका देख नकदी व जेवरात पर हाथ साफ कर फरार हो जाती थी।

Naveen DalalSat, 25 Sep 2021 07:24 AM (IST)
करनाल में लुटेरी दुल्हन शादी का झांसा देकर लोगों से करती थी ठगी।

करनाल, जागरण संवाददाता। करनाल में अजीबोगरीब मामला सामना आया है। जहां दुल्हन भी फर्जी तो बिचौलिए से लेकर रिश्तेदार तक फर्जी निकले। वहीं इस तरह शादी की आड़ में लोगों को ठगी का शिकार बना लिया जाता। फर्जी दुल्हन शादी के अगले ही दिन मौका देख नकदी व जेवरात पर हाथ साफ कर फरार हो जाती तो फर्जी बिचौलिए व रिश्तेदार बनने वाले आरोपित शादी करने वाले लोगों को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर मोटी रकम वसूलते थे।

दुल्हन बनने वाली महिला सहित चार आरोपितों को गिरफ्तार

ऐसे ही एक गिरोह का सीआइए टू ने भंडाफोड़ किया है, जिसमें दुल्हन बनने वाली महिला सहित चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। यह गिरोह हरियाणा व पंजाब में ऐसी कईं वारदातों को अंजाम दे चुका था, जिनके बारे में पुलिस जानकारी जुटा रही है। एएसआई मनोज कुमार की अध्यक्षता में टीम द्वारा गिरोह के चार सदस्यों रिम्पी उर्फ प्रीति पत्नी राजीव कुमार वासी कुकेड बाजार जागराओं जिला मोगा, पंजाब हाल लुधियाना, परमजीत कौर उर्फ पम्मी पत्नी शिव कुमार वासी गुरू गोबिंद सिंह नगद शिमला पुरी लुधियाना, पंजाब, हैरी सिंह वासी मान पैलेस बसंत बिहार लुधियान, पंजाब व सोहन सिंह वासी अमेर कालोनी ताजपुर रोड लुधियाना पंजाब को वीरवार को करनाल से ही गिरफ्तार किया गया है।

सीआईए टू इंचार्ज निरीक्षक मोहनलाल के मुताबिक आरोपितों से प्रारंभिक पूछताछ की गई तो पता चला कि संतोष राणा वासी गांव कालरम हाल बरसत रोड घरौंडा, शमशेर सिंह उर्फ शेरा वासी पानीपत व अजित वासी जटीपुर पानीपत अलग-अलग जगह पर लोगों की शादी करवाने का काम करवाते हैं। उन्होंने घरौंडा व पानीपत में मैरिज ब्यूरो खोल रखे हैं। पंजाब के रहने वाले चारों आरोपित इन मैरिज ब्यूरो चलाने वालों के संपर्क में रहते थे। मैरिज ब्यूरो में ऐसे व्यक्ति भी आते थे, जिनकी किसी वजह से शादी नही हो पाती थी और शादी के लिए इन मैरिज ब्यूरो के चक्कर काटते थे।

ठगी के खेल में मैरिज ब्यूरो भी शामिल

ठगी का सारा खेल यहीं से शुरू होता था। मैरिज ब्यूरो चलाने वाले ऐसे लोगों को विश्वास में लेते थे और सामने वाले की हैसियत के हिसाब से उससे रुपये की मांग कर शादी करवाने की बात करते थे । उन्हें लडकी (रिम्पी उर्फ प्रीति) की फोटो वगैरहा दिखाकर उनको शादी के लिए राजी कर लेते थे। जिसके बाद आरोपित हैरी सिंह, सोहन सिंह व परमजीत कौर लडकी के रिश्तेदार व बिचौलिये बनकर लड़के वालों केे घर जाते थे, ताकि किसी को किसी तरह की गड़बडी या अंदेशा न हो।

आरोपित मिलकर महिला रिम्पी उर्फ प्रीति के साथ उक्त व्यक्ति की शादी करवा देते थे। शादी करवाने के लिये मैरिज ब्यूरो चलाने वाले आरोपित इन आरोपितों से कमीशन लेते थे। आरोपी रिम्पी चार से पांच दिन या जैसा मौका लगता था अपनी कथित ससुराल में रहती थी और जैसे ही उसे भागने का मौका लगता था तो वह शादी के सारे जेवरात व नगदी लेकर घर से फरार हो जाती थी। इसके अलावा भी आरोपित लडके वालों को रिश्ता तोडने की धमकी देकर या अन्य किसी वजह के लिये झूठ बोलकर शादी से पहले व शादी के बाद उनसे रुपये ऐंठते थे। आरोपितों द्वारा हरियाणा व पंजाब में ऐसी कई वारदातों को अंजाम दिया जा चुका है। इनमें जिला करनाल की भी एक वारदात शामिल है। इस मामले में आरोपित अजीत को अगस्त माह में पहले ही करनाल पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है। महिला आरोपित संतोष राणा को ऐसे ही एक मामले में पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है।

करनाल की यह वारदात खुली

शेखपुरा खालसा वासी रणधीर ने 14 जुलाई को थाना घरौंडा में मामला दर्ज कराया था कि उक्त आरोपितों के साथ मिलकर उसके बेटे रमन से रिम्पी उर्फ प्रीती की शादी करवाने, साढ़े चार लाख रुपये ऐंठने व शादी के पांच-छह दिन बाद जेवरात लेकर फुर्र हो जाने को लेकर आरोप लगाए थे। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। आरोपितों को शुक्रवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें दो दिन के लिए रिमांड पर लिया गया है। सीआइए टू इंचार्ज माेहन लाल का कहना है कि रिमांड के दौरान आरोपितों से विस्तार से जानकारी जुटाई जाएगी कि किन-किन लोगों को इस तरह ठगी का शिकार बना चुके हैं और इन के साथ और कौन-कौन आरोपित शामिल है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.