सनसनीखेज खुलासा! कुरुक्षेत्र में दो शातिर ठगों ने खोले राज, झारखंड में बना रखा था गढ़

कुरुक्षेत्र पुलिस झारखंड के दुमका जिले से दो साइबर ठगों को पकड़कर लाई है। गिरोह के मास्टरमाइंड की तलाश जारी है। आरोपितों ने महिला के शाते से एक लाख 97 हजार रुपये निकाल लिए थे। झारखंड में इन्होंने गढ़ बना रखा था।

Umesh KdhyaniSun, 01 Aug 2021 04:40 PM (IST)
आरोपितों से मोबाइल फोन, सिम कार्ड, तीन एटीएम कार्ड और 30 हजार रुपये बरामद हुए हैं।

जागरण संवाददाता, कुरुक्षेत्र। पुलिस के साइबर अपराध शाखा ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को झारखंड के जिला दुमका से गिरफ्तार किया है। आरोपित झारखंड के जिला दुमका के गोशाला रोड दुधानी निवासी संजीव कुमार व जिला दुमका के टावर चौक दुधानी निवासी अजरुद्दीन अंसारी के कब्जे से एक मोबाइल फोन सिम कार्ड सहित, तीन एटीएम कार्ड व 30 हजार रुपये की नकदी बरामद हुई है। पुलिस का कहना है कि यह क्षेत्र साइबर ठगी करने वालों का गढ़ हैं। मामले का मास्टरमांइड एवं मुख्य आरोपित सलमान उर्फ शमशेर अंसारी व उसके सहयोगी आरोपितों की पुलिस तलाश कर रही है।  

डीएसपी सुभाष चंद्र ने बताया कि लाडवा निवासी मनोज कुमार ने तीन मार्च को लाडवा थाना पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी कि उसकी पत्नी के नाम से उनका खाता पीएनबी लाडवा में है। उन्होंने उस खाते का एटीएम(डेबिट) कार्ड बनवाया था। एक मार्च को उसकी पत्नी ने उसको एटीएम पिन जरनेट करने के लिए एटीएम कार्ड दिया। उसने एटीएम मशीन से पिन जरनेट करने की कोशिश की, लेकिन पिन जनरेट नहीं हुआ। उसने इंटरनेट से कस्टमर केयर का नंबर लेकर बात की। कस्टमर केयर के अधिकारी ने उसको कहा कि वह एटीएम कार्ड को आनलाइन चालू कर देंगे। उसके लिए आपके पास एक ओटीपी आएगा, वह बताना पड़ेगा। उसने ओटीपी नंबर दे दिया। उनके खाते से एक लाख 97 हजार 500 रुपये कटने का मैसेज आया। वह समझ गया कि वह ठगी का शिकार हो गया है। शिकायत पर लाडवा थाना पुलिस ने मामला दर्ज करके जांच एएसआइ मूल चंद को सौंपी। मामले की साइबर सैल को सौंपी गई।

मोबाइल फोन, डेबिट कार्ड व 30 हजार रुपये बरामद

पुलिस की साइबर अपराध शाखा के प्रभारी विक्रम सिंह मान के नेतृत्व में एसआइ सुभाष चंद, एएसआइ राजेश कुमार, मुख्य सिपाही विजय, विरेंद्र, विक्रम, रिंकू व एसपीओ सर्वजीत की टीम ने मामले की गहनता से जांच कर आरोपित संजीव कुमार रावत व अजरूद्दीन अंसारी से पूछताछ की। आरोपितों की शिनाख्त पर एक मोबाइल फोन सिम कार्ड सहित, तीन एटीएम व 30 हजार रुपये नकद बरामद हुए। जांच से पता चला कि आरोपितों ने इंटरनेट पर कस्टमर केयर का फर्जी नंबर अपलोड कर रखा था।

मुख्यारोपित की तलाश में जुटी पुलिस

साइबर अपराध शाखा के एसआइ सुभाष चंद्र ने बताया कि मामले में मुख्यारोपित सलमा उर्फ शमशेर अंसारी है। इस मामले में अन्य आरोपित भी शामिल हैं। जिनकी तलाश की जा रही है। आनलाइन ठगी सहित साइबर अपराध के मामलों के झारखंड से ही तार जुड़े हुए हैं। पुलिस ने आरोपितों के गढ़ से उन्हें गिरफ्तार किया है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.