Bharat Bandh: भारत बंद के एक दिन पहले पानीपत में किसान महापंचायत, जानिए क्‍या है तैयारी

Bharat Bandh 27 सितंबर को भारत बंद से पहले पानीपत में 26 सितंबर को किसान महापंचायत है। इसमें राकेश टिकैत भी आएंगे। किसान महापंचायत को लेकर तैयरियां जोरों पर हैं। युवा किसान संभालेंगे पार्किंग व ट्रैफिक व्यवस्था। पानीपत की नई अनाजमंडी के शेड के नीचे होगी महापंचायत।

Anurag ShuklaTue, 21 Sep 2021 02:43 PM (IST)
पानीपत में भारत बंद से एक दिन पहले किसान महापंचायत।

पानीपत, जागरण संवाददाता। 27 सितंबर को भारत बंद से एक दिन पहले पानीपत में होने वाली किसान महापंचायत को लेकर तैयारियों जोरों पर है। खंड स्तर पर कमेटियां गठित करने से लेकर लंगर, ट्रैफिक व न्यौता देने को लेकर अलग अलग ड्यूटियां लगाई गई हैं। किसान महापंचायत नई अनाज मंडी में शेड के नीचे होगी। जहां कोई मंच नहीं लगेगा और न कुर्सियां होंगी। सभी दरे पर नीचे ही बैठेंगे। किसान नेताओं को पूरी उम्मीद है कि जिले के अलावा आस पास के जिलों से भी महापंचायत में हजारों किसान एकत्र होंगे। जिसे भाकियू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत व संयुक्त मोर्चा के अन्य किसान नेता संबोधित करेंगे।

दुकान में बनाया अस्थायी कार्यालय

महापंचायत के आयोजक व नई सब्जी मंडी के प्रधान रमेश मलिक के मुताबिक अनाज मंडी में होने वाली किसान महापंचायत को लेकर जिला के सभी गांवों में जाकर किसानों व मजदूरों को न्योता दिया जा रहा है। जिले में सभी खापों के प्रधानों को भी व्यक्तिगत रूप से किसान मोर्चा की टीम जाकर न्योता दे रही है। सभी ब्लाकों के लिए किसानों की अलग-अलग कमेटियों का गठन किया गया है। महापंचायत होने तक नई अनाज मंडी में ही दुकान नंबर 211 में अस्थाई कार्यालय बनाया गया है।

एक शेड में चलेगा लंगर

यहीं से महापंचायत को लेकर सारे कार्य किए जाएगे। अनाज मंडी में एक शेड के नीचे महापंचायत होगी और दूसरे के नीचे लंगर की व्यवस्था की जाएगी। महापंचायत में आने वाले किसानों व मजदूरों के लिए कई भजन मंडली भी मौजूद रहेगी। वहीं संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा 27 सिंतबर को किए जाने वाले भारत बंद को लेकर भी चर्चा कर ऐलान किया गया कि पानीपत जिला में शांतिपूर्वक ढंग से बंद रखा जाएगा।

किसान संगठनों को भी किया आमंत्रित

महापंचायत में भाकियू की ओर से राज्य भर के किसान संगठनों को भी पत्र लिखकर आमंत्रित किया गया है। साथ ही टोल प्लाजा पर कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर लगातार धरना देने वाले किसान व अन्य को भी महापंचायत में शामिल होने के लिए विशेष तौर पर निमंत्रण दिया गया है।

ट्रैफिक व्यवस्था के लिए सौंपी जिम्मेदारी

भाकियू के जिला प्रधान सोनू शहरमालपुर के मुताबिक स्थानीय किसान नेताओं को उम्मीद है कि पानीपत किसान महापंचायत में 50 से एक लाख तक की संख्या में किसान आ सकते हैं। जिसको लेकर किसान नेता ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर काफी गंभीर है। ऐसे में ट्रैफिक व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जिले के युवा किसानों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। जोकि 25 सितंबर की रात को ही महापंचायत स्थल व आस पास में तैनात हो जाएंगे। क्योंकि एक दिन पहले रात को ही किसानों के पहुंचने शुरू होने की संभावना हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.