आंदोलनकारियों से कैथल में टोल प्‍लाजा खाली कराने पहुुंचा प्रशासन, हंगामा

कैथल में संगतपुरा टोल प्लाजा पर जुटे आंदोलनकारी।

हरियाणा में टोल प्‍लाजा पर बैठे आंदोलनकारियों पर प्रशासन ने शिंकजा कसना शुरू कर‍ दिया है। कैथल में संगतपुरा टोल प्लाजा खाली करवाने जिला प्रशासन पहुंचा। इसकी सूचना आसपास के गांव में फैल गई। आंदोलनकारियों ने हंगामा शुरू कर‍ दिया।

Anurag ShuklaSat, 17 Apr 2021 04:35 PM (IST)

कैथल, जेएनएन। संगतपुरा टोल प्लाजा खाली करवाने के लिए शनिवार को कैथल प्रशासन टोल स्थल पर पहुंचा। किसानों ने कहा कि जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं होते, तक तक किसान टोल से नहीं उठेंगे।  पुलिस प्रशासन यदि जबरदस्ती करेगा तो इसका खामियाजा सरकार को आने वाले समय में भुगतना पड़ सकता है।

शनिवार को डीएसपी कुलवंत सिंह के नेतृत्व में पुलिस फोर्स संगतपुरा टोल प्लाजा पर पहुंची। किसानों से कहा कि उनके पास आला अधिकारियों का आदेश हैं, धरना टोल खाली करवाया जाए। लिहाजा किसान खुद टोल को खाली कर  टोल प्लाजा वालों को वसूली करने दें। लेकिन किसानों ने कहा कि वे शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं। सभी को अधिकार है कि अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन किया जा सकता है। यहां कोई असमाजिक तत्व नहीं है। जो इस प्रकार की घटिया हरकत करेगा।

आसपास के गांव से जुटना हुए शुरू लोग

इस दौरान जैसे ही आसपास के गांवों में किसानों को पुलिस फोर्स आने की सूचना मिली तो भारी तादाद में अन्य किसान भी टोल प्लाजा पर आ डटे। किसानों ने आते ही नारेबाजी शुरू कर दी। साथ ही मांग की कि कृषि कानूनों को वापस लिया जाए,उसके बाद टोल खुलवाएं जाए। किसान भरत सिंह बैनीवचाल ने बताया कि प्रशासन अगर जबरदस्ती टोल को खुलवाएगा, तो किसान किसी भी हालात में सहन नहीं करेगा।

एसडीएम व नायब तहसीलदार ने टोल से हटने की अपील

इसी दौरान एसडीएम संजय कुमार, नायब तहसीलदार ईश्वर सिंह ने भी किसानों से अपील की है कि टोल से हटकर आप दूसरी जगह धरना दे सकते है, लेकिन किसान टस से मस नहीं हुए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे तब तक धरने को समाप्त नहीं कर सकते जब तक उन्हें दिल्ली से उनके आला पदाधिकारियों से आदेश नहीं आता।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.