Haryana Politics: इसलिए आइकार्ड वाले 45 हजार सक्रिय सदस्य बना रही जजपा, पढे़ सियासत की ये खास खबर

पहली बार जेजेपी ने विधानसभा चुनाव जीतकर सत्‍ता में भागीदारी की। पानीपत में जननायक जनता पार्टी का कार्यकर्ता सम्‍मेलन हुआ। हरियाणा में संदेश देना है कि जजपा के कार्यकर्ताओं के काम जल्दी होते हैं। आइकार्ड लेकर दफ्तरों में जाएंगे कार्यकर्ता।

Anurag ShuklaFri, 17 Sep 2021 09:33 AM (IST)
पानीपत में जननायक जनता पार्टी का कार्यकर्ता सम्‍मेलन का विश्‍लेषण।

पानीपत, जागरण संवाददाता। हरियाणा में दस विधानसभा सीटें जीतकर भी सत्ता की भागीदार बन गई हैं जननायक जनता पार्टी। यानी जजपा। अपने पहले ही चुनाव में चौंका देने वाली इस पार्टी ने सभी राजनीतिक पंडितों के विश्लेषण को गलत ठहरा दिया। दुष्यंत चौटाला का जादू हरियाणा के कई जिलों में चला। यहां तक की उनकी पार्टी ने 17.5 फीसद वोट तक हासिल कर लिए। अब जजपा ने 45 हजार सक्रिय सदस्य बनाने की ठानी है। इस बार इन सदस्यों को आइ कार्ड भी दिए जाएंगे। इसकी घोषणा खुद जजपा के अध्यक्ष अजय सिंह चौटाला ने की।

दरअसल, अजय सिंह चौटाला जानते हैं कि वे इस समय सरकार में हैं। सरकार में रहते हुए अपने कार्यकर्ताओं के काम करवा सकते हैं। ये काम करवाने के लिए ही सक्रिय सदस्य बनाए जा रहे हैं। जिस सदस्य के पास कार्ड होगा, उसका सीधा मतलब होगा कि अफसर को पता होगा कि ये जजपा का काम है। उसके काम में देरी का मतलब होगा कि सरकार को नाराज करना।

संदेश देना है, जजपा के काम होते हैं

दरअसल, जजपा कार्यकर्ताओं के बीच यह संदेश देना है कि उनके काम होते हैं। अभी तक ये संदेश जा रहा है कि सरकार में होते हुए भी काम नहीं हो रहे। भाजपा के विधायक तो भरी सभाओं में कह देते हैं कि अफसर उनकी सुनते नहीं। उनके काम नहीं हो रहे। इसी तरह जजपा के कार्यकर्ताओं के साथ भी कई बार ऐसा हो जाता है।

इनेलो वाली मजबूती लानी है

इंडियन नेशनल नेशनल लोकदल की जब सरकार थी, तब इनेलो के कार्यकर्ताओं की पूरी सुनवाई होती थी। राशन कार्ड बनवाना हो, पहचान पत्र बनवाना हो या फिर तहसील में कोई काम होना हो, इनेलो के कार्यकर्ता चले जाते तो तुरंत काम हो जाते। ऐसा ही संदेश जजपा भी देना चाहती है। जजपा का कार्यकर्ता अगर किसी सरकारी दफ्तर में कोई सही काम लेकर जाए तो तुरंत हो जाए। इसलिए पूरी टीम बनाई जा रही है।

भविष्य पर नजर

किसान आंदोलन की वजह से भले ही अभी राजनीतिक तौर पर नुकसान नहीं हो रहा हो लेकिन भविष्य में पार्टी को मजबूत अभी से किया जा रहा है। पानीपत में हुए कार्यकर्ता सम्मेलन में मंच से ही दुष्यंत को सीएम बनाने की बात हुई। यानी जजपा आगे ज्यादा सीटें जीतने की तैयारी तो करेगी ही। ये संभव होगा कार्यकर्ताओं की बदौलत। इसलिए टीम तैयार हो रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.