एसई की हिदायत, स्मार्ट मीटर लगाने के काम में तेजी के साथ खामियां दूर करें

शहर में लग रहे स्मार्ट मीटर के काम को लेकर एसई एसएस ढुल ने अपने कार्यालय में विभागीय के साथ मीटर लगाने वाली कंपनी अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।

JagranThu, 23 Sep 2021 07:11 PM (IST)
एसई की हिदायत, स्मार्ट मीटर लगाने के काम में तेजी के साथ खामियां दूर करें

जागरण संवाददाता, पानीपत : शहर में लग रहे स्मार्ट मीटर के काम को लेकर एसई एसएस ढुल ने अपने कार्यालय में विभागीय के साथ मीटर लगाने वाली कंपनी अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। काम में तेजी लाने से लेकर सामने आ रही खामियों के खात्मे को लेकर प्लानिग तैयार की गई, ताकि भविष्य में स्मार्ट मीटर से संबंधित किसी तरह की खामी से बिजली उपभोक्ता को परेशानी न हो। इस मौके पर एक्सईएन सिटी वीके गोयल व एसडीओ अनिल भी रहे।

पानीपत सर्कल के शहरी क्षेत्र के करीब सवा लाख उपभोक्ताओं के यहां स्मार्ट मीटर लगने हैं। निगम का एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड के मीटर लगाने संबंधित एमओयू हुआ था। उक्त कंपनी ने आगे एलएनटी को मीटर लगाने का काम दिया हुआ है। विभागीय अधिकारियों की मानें तो शहर में 50 हजार से ज्यादा उपभोक्ताओं के यहां अभी स्मार्ट मीटर लग पाए हैं। कंपनी अधिकारियों को दी हिदायत

एसई एसएस ढुल के मुताबिक स्मार्ट मीटर लगाने के काम में तेजी लाने व अन्य कमियों को दूर करने बारे दोनों कंपनी के हेड आफिस पंचकूला व स्थानीय स्तर के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक की गई। जिसमें करीब 50 प्वाइंट पर चर्चा करने के साथ कंपनी अधिकारियों को हिदायत दी गई की काम में तेजी लाई जाए। साथ ही जिस एरिया में स्मार्ट मीटर लगाने का काम हो, वहां कम से कम दस कर्मचारियों को काम पर लगाया जाए, ताकि जल्द काम पूरा हो और ज्यादा समय तक बिजली सप्लाई बाधित न हो। पहले उसी एरिया में मीटर लगाए, जिसमें इंटरनेट सिग्नल की व्यवस्था कंपनी की तरफ से पूरी हो। आनलाइन मीटर रीडिग में दिक्कत न आए। किसी भी एरिया में स्मार्ट मीटर लगे बगैर कोई उपभोक्ता न बचे। जिस एरिया को चुने, पहले उसी एरिया में मीटर लगाने का काम पूरा होने पर दूसरे में काम शुरू करे। साथ ही मीटर शिफ्टिग, पंचिग व एमसीओ के बारे बताया गया। इस कारण आ रही है दिक्कत

विभागीय अधिकारी के मुताबिक कंपनी की तरफ से जिन एरिया में कंप्लीट स्मार्ट मीटर लगाने बारे बताया गया है। वहां आनलाइन मीटर रीडिग ली जा रही है। लेकिन वहां बाद में किसी न किसी ट्रांसफार्मर पर दो चार उपभोक्ता ऐसे मिले रहे हैं, जिनके यहां स्मार्ट मीटर नहीं लगे हैं। उनका पता बाद में तब चल रहा है, जब वो मीटर रीडिग न लिए जाने या एवरेज बिल आने संबंधित शिकायत कार्यालय में लेकर आ रहे हैं। ऐसे में उपभोक्ताओं की शिकायत व कार्यालय में भीड़ बढ़ रही है। कंपनी अधिकारियों को ऐसी कमी को दूर करने के लिए कहा गया है। ताकि उपभोक्ता को परेशानी न हो। उन्होंने बताया कि सर्कल में मार्च 2023 तक स्मार्ट मीटर लगाए जाने हैं। सिस्टम को मजबूत करें

एसई ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि सिस्टम को मजबूत बनाएं। जहां पोल, केबल व ट्रांसफार्मर लगाने की जरूरत है वो लगाएं, ताकि जरा सी बारिश व आंधी आदि आने पर फीडर ब्रेकडाउन होने वाली समस्या को खत्म किया जाए। इससे सप्लाई सुचारू रुप से चलने के साथ उपभोक्ताओं को भी कटों की मार से छुटकारा मिलेगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.