भक्ति मार्ग पर चलीं हरियाणा की तेजतर्रार महिला पुलिस अफसर भारती अरोड़ा, श्रीकृष्‍ण भक्ति के लिए मांगी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति

हरियाणा की चर्चित पुलिस अधिकारी भारती अरो़ड़ा अब भक्ति की राह पर जाना चाहती हैं। हरियाणा पुलिस की तेजतर्रारी अधिकारी रहीं आइजी भारती अरोड़ा ने राज्‍य सरकार से स्‍वैच्छिक सेवानिवृति मांगी है। उन्‍होंने 1 अगस्‍त से यह सेवानिवृति मांगी है।

Sunil Kumar JhaWed, 28 Jul 2021 08:55 AM (IST)
हरियाणा पु‍लिस की महिला अधिकारी आइजी भारती अराेड़ा की फाइल फोटो।

अंबाला, [दीपक बहल]। हरियाणा की चíचत आइपीएस भारती अरोड़ा ने भगवान श्रीकृष्ण की भक्ति की राह पर चलने के लिए स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की इच्छा जताई है। वर्तमान में अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने प्रदेश के मुख्य सचिव व डीजीपी को लिखे पत्र में एक अगस्त 2021 से सेवानिवृत्ति मांगी है। उन्होंने तीन माह के नोटिस पीरियड से भी छूट का आग्रह किया है। वह 23 साल से सेवा में हैं। भारती हरियाणा की पहली महिला आइपीएस हैं, जिन्होंने वीआरएस मांगी है।

मुख्य सचिव और डीजीपी को दो पेज की चिठ्ठी लिखकर 1 अगस्तसे सेवानिवृत्त होने की बात कही

हरियाणा से पहले भारती अरोड़ा का कैडर दूसरा था, बाद में उन्होंने हरियाणा कैडर में सर्विस ज्वाइन की। 1998 बैच की आइपीएस भारती अरोड़ा ने सात सितंबर 1998 को सेवा शुरू की थी। भारती अरोड़ा की सेवानिवृत्ति 31 मार्च 2031को निर्धारित है। पचास वर्ष की हो चुकीं भारती का विवाह हरियाणा कैडर के आइपीएस विकास अरोड़ा से हुआ है। वह हरियाणा में राजकीय रेलवे पुलिस में एसपी, अंबाला एसपी, कुरुक्षेत्र एसपी, राई स्पो‌र्ट्स कांप्लेस में प्रिंसिपल, करनाल रेंज में आइजी रहीं हैं। स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के लिए उन्होंने 24 जुलाई 2021 को पत्र लिखा था।

अब जीवन का लक्ष्य हासिल करने की चाहत

भारती ने प्रदेश के मुख्य सचिव व डीजीपी को भेजे पत्र में लिखा है कि वह स्वेच्छा से एक अगस्त 2021 से सेवानिवृत्ति चाहती हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि नियमानुसार तीन माह का जो नोटिस पीरियड दिया जाना चाहिए, उसमें उनको छूट दी जाए। उन्होंने कहा पुलिस सेवा उनके लिए गर्व और जुनून रही है। वह अब जीवन का लक्ष्य हासिल करना चाहती हैं और गुरुनानक देव, चैतन्य महाप्रभु, कबीरदास, तुलसीदास, सूरदास, मीराबाई की राह चलकर अपना शेष जीवन प्रभु श्रीकृष्ण की भक्ति में बिताना चाहती हैं।

समझौता एक्‍सप्रेस कांड की जांच में भी रही अहम भूमिका

18 फरवरी 2007 को नई दिल्ली से अटारी जा रही समझौता एक्सप्रेस में हुए बम ब्लास्ट के समय भारती अरोड़ा हरियाणा राजकीय रेलवे पुलिस में एसपी थीं। उस प्रकरण की जांच में आइपीएस भारती अरोड़ा की महत्वपूर्ण भूमिका थी। वह जहां-जहां एसपी या आइजी रहीं उनकी कार्यशैली प्रभावित करने वाली रही। हाल ही में प्रदेश में अवैध रूप से लोगों को विदेश भेजने (कबूतरबाजी) के मामले की जांच को भी उन्होंने सिरे तक चढ़ाया।

अंबाला में एक्स्ट्रा न्यूट्रल अल्कोहल (ईएनए) तस्करी की जांच के लिए उनके नेतृत्व में ही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम बनी, जिसमें कई बड़ी मछलियां पकड़ी गई हैं। अंबाला के एसपी पद पर रहते हुए सेंट्रल जेल में धाíमक आयोजन में भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

औपचारिकताएं पूरी की जा रहीं : विज

 प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने पुष्टि की है कि अंबाला रेंज की आइजी भारती अरोड़ा ने वीआरएस के लिए आवेदन किया है। नियमों के अनुसार जो भी औपचारिकताएं पूरी करनी होती हैं, उन्हें पूरा किया जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.