Haryana Police Constable Exam: पुलिस भर्ती परीक्षा में किसी दूसरे की जगह दी परीक्षा, कई गिरफ्तार

सात अगस्त को कैथल से पुलिस कांस्टेबल भर्ती की परीक्षा का पेपर लीक हुआ था। सीआइए वन पुलिस ने माता गेट के नजदीक से तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया था। आरोपितों ने पेपर लीक करने की बात स्वीकार की थी।

Rajesh KumarMon, 15 Nov 2021 07:27 PM (IST)
पुलिस भर्ती मामले में परीक्षार्थी की व्यवस्था कर परीक्षा दिलवाने का आरोपित गिरफ्तार।

कैथल, जागरण संवाददाता। सीआइए-टू पुलिस ने पुलिस कांस्टेबल भर्ती मामले में जींद जिले के गांव पांडु-पिंडारा निवासी अमित को गिरफ्तार किया है। एसपी ने बताया कि थाना सिविल लाइन पुलिस में 27 अगस्त को दर्ज एक मामले की जांच के दौरान सीआइए-टू पुलिस ने कुछ दिन पहले नरवाना के सुभाष नगर निवासी आरोपित योगेश को गिरफ्तार किया था। जिसने पूछताछ के दौरान बताया था कि उसने उपरोक्त आरोपित अमित के स्थान पर बैठकर सात अगस्त को कैथल शहर के कमेटी चौक स्थित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में पेपर दिया था। एसपी ने बताया कि योगेश को पेपर देने के लिए झज्जर के गांव मुंदसा निवासी नवीन ने बैठाया था।

पैसे देकर पेपर दिलवाया

अमित व नवीन द्वारा अमित के आधार कार्ड व एडमिट कार्ड पर योगेश की फोटो लगाकर फर्जी दस्तावेज तैयार करके पेपर दिलवाया गया। नवीन ने अमित से पैसे में पेपर दिलवाने की बात की हुई थी। उसने उनमें से कुछ पैसे योगेश को देने की बात तय करते हुए उसको पेपर में बैठाया था। एसपी ने बताया कि योगेश से पूछताछ के बाद थाना शहर पुलिस में मामला दर्ज किया था। आरोपित नवीन भी सीआइए-टू पुलिस द्वारा इससे पूर्व इसी प्रकार के एक अन्य मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है। व्यापक पूछताछ के बाद आरोपित अमित को अदालत में पेश कर अदालत के आदेश पर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

कैथल से लीक हुआ था पुलिस भर्ती की लिखित परीक्षा का पेपर

बता दें कि सात अगस्त को कैथल से पुलिस कांस्टेबल भर्ती की परीक्षा का पेपर लीक हुआ था। सीआइए वन पुलिस ने माता गेट के नजदीक से तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया था। आरोपितों ने पेपर लीक करने की बात स्वीकार की थी। इसके बाद जींद के गांव थुआ निवासी रमेश को गिरफ्तार किया था। रमेश ने हिसार के नरेंद्र से प्रति आंसर-की दस से 12 लाख रुपये में खरीदते हुए आगे युवाओं को 15 से 16 लाख रुपये प्रति आंसर की बेची थी। नरेंद्र ने हिसार के गांव खांडाखेड़ी निवासी राजकुमार से एक करोड़ में यह आंसर-की खरीदी थी। राजकुमार ने जम्मू-कश्मीर से यह आंसर की खरीदी थी। इस मामले में जम्मू-कश्मीर के पांच आरोपितों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। पुलवाला की प्रिंटिंग प्रेस से यह पेपर लीक हुआ था। अब तक इस मामले में कुल 45 आरोपित गिरफ्तार किए जा चुके हैं। 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.