अनिल विज ने अधिकारियों को लताड़ा, अंबाला में निर्माणधीन विकास प्रोजेक्ट में हो रही देरी से खफा

अंबाला में निर्माणाधीन विकास प्रोजेक्ट अब जनता के लिए आफत बनते जा रहे हैं। पैसों को लेकर ठेकेदार अपना दुखड़ा रो रहा है और लेबर भी काम छोड़ कर जा रही है। गृहमंत्री अनिल विज ने इसी लेट लतीफी और लापरवाही के चलते अधिकारियों को लताड़ लगाई है।

Rajesh KumarPublish:Wed, 08 Dec 2021 08:34 PM (IST) Updated:Wed, 08 Dec 2021 08:34 PM (IST)
अनिल विज ने अधिकारियों को लताड़ा, अंबाला में निर्माणधीन विकास प्रोजेक्ट में हो रही देरी से खफा
अनिल विज ने अधिकारियों को लताड़ा, अंबाला में निर्माणधीन विकास प्रोजेक्ट में हो रही देरी से खफा

अंबाला, जागरण संवाददाता। अंबाला में पहले से ही लेट लतीफी का शिकार हो चुके विकास प्रोजेक्टों को पूरा करके नए साल में जनता को समर्पित किए जाने की योजना पर पानी फिर गया। जनता के लिए आफत बन चुकी निर्माणाधीन प्रोजेक्ट पर काम करने वाले लेबर भी भाग खड़े हुए। मजदूरों के कमी की वजह से विकास कार्य कब तक पूरा होंगे, इसका जवाब अब कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के पास भी नहीं मिला। देर हो रहे प्रोजेक्ट को देख गंभीर हुए राज्य के गृहमंत्री अनिल विज ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से लेकर ठेकेदार को चेतावनी दे डाली।

गृहमंत्री के सख्त तेवर देख सुप्रिटेंडेंट इंजीनियर से लेकर एक्सईएन विकास कार्यो की प्रगति देखने के लिए साइट का निरीक्षण करना शुरू कर दिया। ठेकेदार शशांक गर्ग ने कहा कि विभाग के पास बिल भुगतान के भेजा जा चुका है, लेकिन भुगतान न होने की वजह से धन की कमी आड़े आ रही है और लेबर भी दौड़ने लगे हैं। जबकि लोक निर्माण विभाग के अधिकारी अब विकास प्रोजेक्टों पर कार्य करने वाले मजदूरों से लेकर रोजाना प्रगति की मानीटरिंग करना शुरू कर दिया है।

विलंब से चल रहे विकास प्रोजेक्ट

- अंबाला छावनी में डाक्टर्स कालोनी

- 100 बेड का कैंट सिविल अस्पताल

- शहर का लघु सचिवालय

- छावनी में निर्माणाधीन स्टेडियम

- छावनी में निर्माणाधीन आर्यभट्ट केंद्र

- होम्योपैथिक कालेज और अस्पताल

बिल का भुगतान नहीं किया जा रहा है

ठेकेदार शशांक गर्ग ने बताया कि महीनों पहले प्रोजेक्ट के बिल का भुगतान करने के लिए लोक निर्माण विभाग को भेज दिया गया है। बिल का भुगतान नहीं किया जा रहा है। ऐसे में मजदूरों का भुगतान नहीं हो रहा है और वह भी अब यहां से पलायन करने लगे हैं। हमारे निर्माणाधीन प्रोजेक्टों पर करोड़ों रुपये बकाया है, जिसका भुगतान पीडब्ल्यूडी नहीं कर रहा है।

तेजी नहीं आई तो होगी कार्रवाई

पीडब्ल्यूडी के सुप्रिटेंडेंट इंजीनियर सुखवीर सिंह ने बताया कि विकास प्रोजेक्टों में देरी को लेकर एक्सईएन से लेकर मेरे स्तर से लेकर ठेकेदार तक को पहले भी कई बार नोटिस दिया गया है। अगर अभी भी प्रोजेक्ट में तेजी नहीं आई तो संबंधित के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।