एड्स मरीजों के लिए बड़ी खबर, हरियाणा सरकार देगी पेंशन, जुटाया जा रहा डाटा

एड्स के मरीजों को हरियाणा सरकार बड़ी राहत देने जा रही है। सरकार ने एड्स मरीजों को पेंशन देने का फैसला लिया है। इसके लिए प्रदेशभर से डाटा जुटाया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी फाइल लीगल रिमेंबरेंस (एलआर) आफिस में भेजी हुई है।

Rajesh KumarWed, 24 Nov 2021 05:17 PM (IST)
एड्स के मरीजों को पेंशन देगी हरियाणा सरकार।

जींद, [कर्मपाल गिल]। एचआईवी एड्स से पीड़ित मरीजों को प्रदेश सरकार बड़ी राहत देने जा रही है। एड्स के मरीजों को सरकार ने पेंशन देने का फैसला लिया है। एड्स मरीजों को सरकार के इस फैसले से बड़ी राहत मिलेगी। इसके लिए सरकार डाटा जुटा रही है। 

इतनी मिलेगी पेंशन

एड्स मरीजों को प्रदेश सरकार बुजुर्गों के बराबर 2500 रुपये महीना पेंशन देगी। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी फाइल लीगल रिमेंबरेंस (एलआर) आफिस में भेजी हुई है। उम्मीद है नए साल में एड्स पीड़ितों को पेंशन मिल जाएगी। पूरे प्रदेश में करीब 36 हजार एड्स मरीज स्वास्थ्य विभाग के पास रजिस्टर्ड हैं। इन मरीजों का 15 सिविल अस्पतालों और पीजीआई में निःशुल्क इलाज किया जा रहा है। सभी जिला मुख्यालयों पर एड्स की फ्री टेस्टिंग की जाती है।

एड्स के मरीजों को होती है ये दिक्कत

रोडवेज बसों में सहयोगी के साथ फ्री यात्रा की सुविधा भी है। एड्स पीड़ितों के शरीर की इम्युनिटी काफी कमजोर हो जाती है। काफी मरीज मानसिक रूप से इतने कमजोर हो जाते हैं कि कोई काम नहीं कर पाते। ऐसे में पेंशन मिलने से एड्स पीड़ितों को बड़ी राहत मिलेगी। पूरे प्रदेश में इन सभी मरीजों का रजिस्ट्रेशन नंबर, आईडी प्रूफ, बैंक डिटेल व अन्य डाटा इकट्ठा किया जा रहा है। हरियाणा एड्स कंट्रोल सोसायटी पंचकूला की प्रोजेक्ट डायरेक्टर डा. रेणु पहल मलिक बताती हैं कि एड्स मरीजों के इलाज के लिए रोहतक पीजीआई में माइक्रोबायोलाजी मशीन दी गई है।

जिसके द्वारा मरीज की बीमारी की मात्रा के हिसाब से दवा दी जा रही है। यह प्रदेश की इस तरह की पहली मशीन है। सभी सिविल अस्पतालों में सीडी-4 टेस्ट, वायरल लोड टेस्ट फ्री हो रहे हैं। एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी (एआरटी) का प्रयोग शुरू होने के बाद एड्स मरीजों को बड़ी मदद मिली है। सरकार का प्रयास है कि एड्स मरीजों को सभी जनकल्याणकारी मदद दी जाएं। पेंशन देने की योजना भी इसी कड़ी का हिस्सा है।

इन कारणों से होता है एड्स

-असुरक्षित यौन संबंध बनाने से।

-संक्रमित सुई के प्रयोग से।

-संक्रमित खून चढ़वाने से।

-संक्रमित मां से बच्चे को।

एड्स संक्रमित यह करें

-एआरटी सेंटर से इलाज लगातार जारी रखें। इससे इम्युनिटी मजबूत बनी रहती है।

-संतुलित आहार लें और हर रोज योगासन व व्यायाम जरूर करते रहें।

यह सावधानियां सभी बरतें

-शादी से पहले असुरक्षित यौन संबंध न बनाएं। यदि बनाएं तो कंडोम का प्रयोग करें।

-बीमारी या नशा करने वाले पहले प्रयोग की हुई सीरिंज का दोबारा प्रयोग न करें।

-सरकार से मान्यता ब्लड बैंक से ही ब्लड लें।

-गर्भवती मां एड्स संक्रमित है तो गर्भ ठहरने के समय ही इलाज शुरू करवाएं।

-असुरक्षित यौन संबंध बनाने के बाद आठ माह तक हर तीन महीने बाद जांच करवाते रहें।

1097 नंबर पर लें सलाह

प्रदेश सरकार ने एड्स मरीजों के लिए 1097 टोल फ्री नंबर जारी कर रखा है। कोई भी व्यक्ति इस नंबर पर काल करके एड्स के बारे में कोई भी शंका या सवाल का समाधान कर सकता है। 

एलआर आफिस से मंजूरी मिलना बाकी

हरियाणा एडस कंट्रोल के प्रोजेक्ट डायरेक्ट डा. रेणु पहल मलिक ने बताया कि एड्स पीड़ित को पेंशन देने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने फाइल तैयार करके लीगल रिमेंबरेंस आफिस में भेज दी है। अब वहां से मंजूरी मिलते ही सरकार पेंशन शुरू कर देगी। स्वास्थ्य विभाग की तैयारी पूरी है। सभी जिलों से मरीजों की बैंक डिटेल व आईडी प्रूफ इकट्ठे किए जा रहे हैं।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.