आज जींद में डिप्‍टी सीएम दुष्‍यंत चौटाला, उचाना में बढ़ सकता है तनाव

हरियाणा के डिप्‍टी सीएम दुष्‍यंत चौटाला आज जींद में तीन कार्यक्रमों में शामिल होने के लिए पहुंचेंगे। वहीं उनके पहुंचने पर उचाना में तनाव बढ़ सकता है। उचाना के गांव दरोली में कन्यादान डालने डाएंगे। भाकियू चढ़ूनी ने विरोध का ऐलान किया।

Anurag ShuklaPublish:Wed, 01 Dec 2021 09:58 AM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 09:58 AM (IST)
आज जींद में डिप्‍टी सीएम दुष्‍यंत चौटाला, उचाना में बढ़ सकता है तनाव
आज जींद में डिप्‍टी सीएम दुष्‍यंत चौटाला, उचाना में बढ़ सकता है तनाव

जींद, जागरण संवाददाता। तीनों कृषि कानून वापस होने के बाद डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला बुधवार को जिले में तीन कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। इस दौरान वह जींद, पिल्लूखेड़ा व उचाना के गांव दरोली खेड़ा में जाएंगे। दरोली खेड़ा में दुष्यंत के पहुंचने पर माहौल गरम होने की संभावना है।

उप मुख्यमंत्री बुधवार दोपहर बाद करीब तीन बजे जींद में जिला कार्यालय में कार्यकर्ताओं की मीटिंग लेंगे। इस दौरान झज्जर में पार्टी के स्थापना दिवस समारोह की तैयारियों पर चर्चा करेंगे और इस कार्यक्रम में भीड़ जुटाने के लिए जिले के कार्यकर्ताओं की ड्यूटी भी लगाएंगे। पिछले सप्ताह पार्टी के वरिष्ठ नेता और हरियाणा अनुसचूित जाति वित्त विकास निगम के चेयरमैन पवन खरखौदा ने भी जींद में झज्जर स्थापना दिवस को लेकर मीटिंग ली थी। स्थापना दिवस समारोह में जींद जिले से ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। किसान आंदोलन के सालभर बाद स्थापना दिवस समरोह में भारी भीड़ जुटाकर पार्टी प्रदेश स्तर पर बड़ा संदेश देना चाहती है।

दुष्यंत चौटाला ने इसी उद्देश्य को लेकर बुधवार को पहले रोहतक में कार्यकर्ताओं की मीटिंग लेंगे और बाद में जींद में मीटिंग लेंगे। जींद में बैठक के बाद पौने चार बजे पिल्लूखेड़ा में पार्टी प्रत्याशी रहे स्व. दयानंद कंडू के बेटे फोरेस्ट रेंजर सुनील कुंडू के आवास पर जाएंगे। यहां निजी कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद उचाना के गांव दरोली खेड़ा में करण सिंह की बेटी की शादी में कन्यादान डालने पहुंचेंगे। लेकिन उचाना में उपमंडल कार्यालय के सामने धरना दे रहे भाकियू गुरनाम चढ़ूनी गुट के जिलाध्यक्ष आजाद पालवां ने दुष्यंत का बहिष्कार करने का ऐलान किया है।

मंगलवार को पालवां ने कहा कि गांव दरोली खेड़ा को जाने वाले चारों रास्तों पर बुधवार को किसान धरना देंगे। किसानों ने पहले ही ऐलान कर रखा है कि जब तक किसान आंदोलन समाप्त नहीं हो जाता, तब तक सरकार से जुड़े मंत्रियों व विधायकों को गांव में नहीं घुसने देंगे। ऐसे में उचाना में बुधवार को तनाव का माहौल रहने की संभावना है। वहीं जेजेपी के कार्यकर्ताओं ने दुष्यंत के स्वागत की तैयारियां शुरू कर रखी है। किसान आंदोलन शुरू होने के बाद दुष्यंत पहली अपने विधानसभा क्षेत्र में प्रवेश करेंगे।