मालगाड़ी से गेहूं व चावल चोरी करने का गिरोह सक्रिय, गेहूं का स्टाक पकड़ा, 35 कट्टे बरामद

रेलवे स्टेशन पर लोडिंग होते ही मालगाड़ी से गेहूं व चावल चोरी करने का गिरोह सक्रिय है। मालगाड़ी की सुरक्षा को लेकर स्टेशन पर रेलवे पुलिस फोर्स के मात्र दो कर्मचारी ही कार्यरत। पूर्व में रेलवे पुलिस कर्मचारियों पर भी हमला कर चुके हैं अनाज चोरी करने वाले आरोपित।

Anurag ShuklaPublish:Sat, 27 Nov 2021 04:15 PM (IST) Updated:Sat, 27 Nov 2021 04:15 PM (IST)
मालगाड़ी से गेहूं व चावल चोरी करने का गिरोह सक्रिय, गेहूं का स्टाक पकड़ा, 35 कट्टे बरामद
मालगाड़ी से गेहूं व चावल चोरी करने का गिरोह सक्रिय, गेहूं का स्टाक पकड़ा, 35 कट्टे बरामद

कैथल, जागरण संवाददाता। रेलवे स्टेशन पर खड़ी मालगाड़ी से गेहूं चोरी करने वाला गिरोह कैथल में लंबे समय से सक्रिय है। मालगाड़ी के लोडिंग होते ही चोर वारदात को अंजाम देने में लग जाते हैं। मालगाड़ी की सुरक्षा में रेलवे पुलिस फोर्स की तरफ से मात्र दो पुलिस कर्मचारी ही चौकी में तैनात होने के कारण चोर इसका फायदा उठा रहे हैं। मालगाड़ी से गेहूं व चावल चोरी के मामले आए दिन सामने आ रहे हैं, लेकिन पुलिस केवल एफआइआर दर्ज सिमटी हुई है। कुछ दिन पहले मालगाड़ी से गेहूं चोरी कर एक घर में स्टाक किया हुआ था। इसकी सूचना मिलने के बाद सिटी थाना पुलिस ने रेलवे पुलिस फोर्स के कर्मचारियों को साथ में लेकर रेड की। पुलिस ने यहां से करीब 35 गेहूं के कट्टे बरामद किए हैं, जिसे कब्जे में ले लिया है। गेहूं चोरी करने वाले आरोपितों की पुलिस तलाश कर रही है। इस साल गेहूं चोरी के मामले में रेलवे पुलिस चौकी में दो एफअाइआर दर्ज की गई हैं।

पूर्व में रेलवे पुलिस कर्मचारियों पर हमला भी कर चुके हैं बदमाश

कैथल रेलवे स्टेशन पर गेहूं व चावल की लोडिंग के बाद अंधेरा होते ही अनाज चोरी की वारदात शुरू हो जाती है। पूर्व में रेलवे सुरक्षा बल के दो कर्मचारियों पर हमला भी कर चुके हैं। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपितों के विरुद्ध केस भी दर्ज किया था, लेकिन इसके बावजूद अनाज चोरी करने वाले लोगों के हौंसले बुलंद हैं। लोगों का कहना है कि मालगाड़ी की सुरक्षा एक तरह से राम-भरोसे रहती है। अनाज चोरी करने वालों की संख्या ज्यादा होने के कारण दो पुलिस कर्मचारी कुछ नहीं कर सकते। सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मचारियों पर ही पत्थराव शुरू होता है। इसलिए दो कर्मचारी कैसे अनाज चोरी की वारदात को रोकेंगे। मालगाड़ी की सुरक्षा को लेकर उचित प्रबंध किए जाने चाहिए, ताकि अनाज चोरी की वारदातों पर लगाम लगाई जा सके।

एक माह में 25 से 28 गाड़ियों की होती है लोडिंग

कैथल रेलवे स्टेशन से दूसरे राज्यों में खरीद एजेंसियों का अनाज मालगाड़ी से भेजा जाता है। प्रतिमाह 25 से 28 गाड़ियां यहां से लोडिंग होती है। कैथल रेलवे स्टेशन ही नहीं बल्कि रास्ते में भी सैंकड़ों क्विंटल अनाज चोरी होने की वारदात होती है।

एक व्यक्ति ने नाम न छापने की शर्त में बताया कि मालगाड़ी से गेहूं चोरी होने की वारदात लंबे समय से हो रही है। इसकी सुरक्षा बढ़ाई जानी चाहिए। वह कई बार जिला प्रशासन व रेलवे विभाग के अधिकारियों को अवगत करवा चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। अनाज चोरी कर के बाद आसपास की दुकानों पर ही इसे बेचा जा रहा है।

सिटी थाना पुलिस इंचार्ज देवेंद्र कुमार ने बताया कि मालगाड़ी से गेहूं चोरी करने के मामले में यह कार्रवाई की है। चोरों ने मालगाड़ी से गेहूं चोरी कर एक मकान में स्टाक किया हुआ था। यहां से 35 गेहूं के कट्टे बरामद किए हैं। चोरों की तलाश की जा रही है।