करनाल में पकड़ी बंटी-बबली की जोड़ी, विदेश भेजने के नाम पर युवाओं को ऐसे लगाते थे चपत

करनाल में ठग दंपती को गिरफ्तार किया गया है। दोनों युवाओं को विदेश भेजने के नाम पर ठगते थे। पुलिस को उनकी कई दिन से तलाश थी। दोनों पर करनाल में कई मामले दर्ज थे। उन पर 10-10 हजार का इनाम रखा गया था।

Umesh KdhyaniThu, 17 Jun 2021 07:57 PM (IST)
दंपती पहले युवाओं को विदेश जाने के सपने दिखाते थे। फिर मोटी रकम वसूलते थे।

करनाल, जेएनएन। युवाओं को विदेशों में भेजने और वहां उन्हें अच्छी नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी का शिकार बनाते रहे आरोपित पति-पत्नी आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं। दोनों पर 10-10 हजार का इनाम घोषित था। आरोपित पति पर धोखाधड़ी के पहले ही पांच मामले दर्ज हैं। इनमें वह भगोड़ा भी घोषित किया जा चुका था।

दोनों से विदेश भेजने की आड़ में धोखाधड़ी के थाना शहर में ही दर्ज तीन मामलों का रहस्योद्घाटन हुआ है। आरोपित पत्नी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है। वहीं उसके पति को छह दिन के रिमांड पर लिया गया है। इस दौरान उनसे कई और मामलों का राज खुलने की संभावना है। बता दें कि सुशांत सिटी वासी जसबीर व उसकी पत्नी ममता पर युवाओं को विदेश भेजने की आड़ में लाखों रुपये की धोखाधड़ी के आरोप लग रहे थे। उन पर कई मामले दर्ज थे और दोनों फरार थे। पुलिस को उनकी तलाश थी। सीआइए टू टीम ने उन्हें गुप्त सूचना के आधार पर सेक्टर-4 एरिया से गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपित पति-पत्नी जाल में फंसा इस तरह से वसूलते थे रकम

पुलिस के अनुसार पूछताछ में रहस्योद्घाटन हुआ है कि आरोपित युवाओं को विदेश भेजने और वहां नौकरी दिलवाने की गारंटी के नाम पर उनसे मोटी रकम वसूलते थे। उन्हें जिस देश भेजने की डील करते थे उस देश का फर्जी वीजा व फर्जी टिकट थमा देते थे। जैसे ही विदेश जाने वाला व्यक्ति विदेश जाने के लिए एयरपोर्ट पर पहुंचता तो आरोपित उसको बताते कि आपका किसी कारण से टिकट कैंसिल हो गया है। उन्हें अभी दूसरे देश भेज देते हैं और वहां से उसी देश भेज देंगे।

कई देशों में घुमाते थे, पीड़ित से करवाते थे खर्च 

आरोपित ऐसे ही अलग-अलग कई देशों में घुमाते रहते थे। इस दौरान संबंधित व्यक्ति को ही खर्च करना पड़ता था। आखिरी में जब संबंधित व्यक्ति को अपने साथ हुई धोखाधड़ी का आभास हो जाता तो वह वापस स्वदेश लौट आता था। वापस आने पर जब आरोपित पति-पत्नी से दी राशि लौटाने की मांग की जाती तो पहले वे गुमराह करते रहते और बाद में चेक थमा देते थे। जैसे ही लोग बैंक में चेक लगाते तो बाउंस हो जाते थे। जब वह व्यक्ति चेक बाउंस होने के बाद अपनी राशि वापस लेने को दबाव देता तो उसे जान से मारने की धमकी देने लगते थे।

एक मई को दोनों पर घोषित किया था 10-10 हजार का इनाम 

पुलिस अधीक्षक गंगा राम पूनिया के अनुसार जांच की गई तो पता चला कि आरोपित जसबीर धोखाधड़ी के ऐसे पांच मामलों में न्यायालय से भगौड़ा घोषित है। दोनों आरोपित पति-पत्नी धोखाधडी करने के बाद से ही फरार चल रहे थे। जिनको जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के लिए पुलिस विभाग की तरफ से एक मई 2021 को उन पर 10-10 हजार रुपये ईनाम घोषित किया गया था। गिरफ्तार करने के बाद आरोपित पति-पत्नी को वीरवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से आरोपित ममता को जेल भेज दिया गया जबकि उसके आरोपित पति जसबीर को छह दिन के रिमांड पर लिया गया। इस दौरान उससे गहनता से पूछताछ की जाएगी।

शहर थाने में दर्ज इन मामलों से उठा पर्दा

सेक्टर चार वासी अनिता ने 13 मई 2020 को मामला दर्ज कराया था, जिसमें उन्होंने पति-पत्नी पर आरोप लगाए थे कि उन्होंने पहले उसके बेटे पंकज को आस्ट्रेलिया भेजने का भरोसा दिया और फिर उसका वीजा व टिकट कैंसिल होने की झूठी कहानी बना दी। अन्य देशों में घुमाकर उसे वापस यहां लाकर छोड़ दिया। उन्हें दिए दो लाख रुपये वापस मांगे तो जान से मारने की धमकी दी जाने लगी। रमेश नगर पानीपत वासी दीपक मलिक ने 14 मई 2020 को उक्त पति-पत्नी के अलावा सुभाष वासी गांव सिवाह जिला पानीपत व उसकी पत्नी के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इसमें उन्होंने आरोप लगाए थे कि उसे आरोपितों ने न्यूजीलैंड भेजने का भरोसा दिया था, लेकिन बाद में वीजा व टिकट की झूटी कहानी बनाकर उसे अन्य देशों में घुमाया और वापस यहां लाकर छोड़ दिया। आरोपितों ने उनसे 14 लाख की धोखाधड़ी की और रकम वापस मांगे जाने पर जान से मारने की धमकी दी।

शास्त्री नगर वासी अर्चना ने 15 मई को मामला दर्ज कराया था कि पति-पत्नी ने उसकी बेटी को विदेश भेजने की आड़ में 13 लाख रुपये हड़प लिए। अब आरोपित दी राशि वापस लौटने से इंकार कर रहे हैं तो उन्हें धमकी दी जा रही है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.