top menutop menutop menu

समागम से निहाल हो लौटे अनुयायी, दो विशेष ट्रेनें चली

जागरण संवाददाता, समालखा : 72वें संत निरंकारी समागम के संपन्न होने के दूसरे दिन भी अनुयायियों के जाने का सिलसिला जारी रहा। भोड़वाल माजरी स्टेशन से दिल्ली के लिए दो विशेष ट्रेनें चलाई।

मंगलवार को बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन तक भारी भीड़ रही। 70 से ज्यादा ट्रेनों के ठहराव किया गया। स्टेशन पर सुरक्षा के लिहाज से जीआरपी व आरपीएफ के ढाई सौ से ज्यादा जवान तैनात रहे। पिछले साल के मुकाबले इस बार निजी वाहनों से ज्यादा अनुयायी पहुंचे।

16 से 18 नवंबर तक आयोजित समागम में देश व विदेश से करीब पांच लाख अनुयायी पहुंचे थे। ट्रेन से आने वाले अनुयायियों को लेकर रेलवे की तरफ से भोड़वाल माजरी रेलवे स्टेशन पर अप व डाउन में 70 से ज्यादा गाड़ियों का 5 नवंबर से 30 नवंबर तक तीन मिनट के लिए ठहराव किया गया है। भीड़ के कारण पहले टिकट को लेकर और फिर ट्रेन में सवार होने के लिए मारामारी रही।

समागम में आए श्रद्धालुओं को लेकर स्टेशन पर अप व डाउन ट्रैक पर दिन भर ट्रेनें थमी रहीं। सवार होने के लिए लोग काफी मशक्कत करते दिखे। इस बीच कई ट्रेनों की चेन पुल हुई। तीन मिनट के ठहराव वाली गाड़ियां ज्यादा समय लगने पर निर्धारित समय से लेट हुई। तैनात रहे जवान

आरपीएफ के डीएसपी अंकुर मोहन ने बताया कि सोनीपत के इंचार्ज पुष्कर नाथ गोस्वामी के नेतृत्व में उनके करीब 110 और जीआरपी के 150 जवान स्टेशन पर तैनात हैं। जो चौबीस घंटे ड्यूटी दे रहे हैं। सुरक्षा आयुक्त अनुभव जैन और हरीश सिंह पपोला ने व्यवस्था का जायजा लिया है। मंडल की तरफ से सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं।

डीएसपी अंकुर मोहन ने बताया कि अनुयायियों के लिए ट्रेनों के ठहराव के अलावा भोड़वाल माजरी स्टेशन से दिल्ली तक दो स्पेशल ट्रेनें भी चलाई गई है। एक ट्रेन शाम 5 बजकर 10 मिनट पर और दूसरी रात 11 बजकर 05 मिनट पर चलाई गई है। जिनका संचालन जरूरत के हिसाब तक जारी रहेगा। तीन दिन में कटे 50 लाख के टिकट

रेलवे की ओर से एक आरक्षित सहित स्टेशन पर चार टिकट काउंटर खोले गए हैं। पिछले दो दिन में ट्रेन से एक लाख से ज्यादा अनुयायी रवाना हुए हैं। ऐसे में रेलवे को तीन दिन में ही टिकट से करीब पचास लाख की आमदनी हुई है। जो एक करोड़ के पार होने की संभावना है। पिछले साल भी रेलवे को एक करोड़ से ज्यादा की आमदनी हुई थी। स्थायी चौकी के लिए भेजा जाएगा प्रपोजल

सोनीपत थाना इंचार्ज पुष्कर नाथ गोस्वामी ने बताया कि पहले स्टेशन पर यात्रियों का आवागमन बहुत कम था, लेकिन अब समागम के चलते यहां स्थायी चौकी खोलना जरूरी हो गया है। स्थायी चौकी खोलने के लिए जल्द ही प्रपोजल बना सीनियर डिविजनल सिक्योरिटी कमिश्नर के पास भेजा जाएगा। बाजार में रही रौनक

समागम का समापन होने के बाद भी काफी अनुयायी ठहरे हुए हैं। मंगलवार को कस्बा के बाजारों में खरीद के लिए पहुंचे तो दिन भर बाजार में रौनक रही। किसी ने जूते, कपड़े तो किसी ने कंबल की खरीदारी की। भोड़वाल माजरी रेलवे स्टेशन और गांव के पास भी बाजार लगे रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.